गुरनाम सिंह ने चोरी हुए कबूतराें को खुद तलाशा:90 कबूतर चाेरी के मामले में सीसीटीवी से पकड़े गए 3 नाबालिग, बाजी लगाने के लिए पाले हुए थे अच्छी नस्ल के कबूतर

अम्बाला सिटी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिंजरे में रखे थे ये कबूतर। - Dainik Bhaskar
पिंजरे में रखे थे ये कबूतर।

जंडली में छत के ऊपर पाल रखे तहदार, लक्खा व अन्य नस्ल के 90 कबूतर चोरी करने के 3 नाबालिग आराेपियाें काे पुलिस ने संरक्षण में लिया है। अाराेपी एक सिलेंडर भी ले गए थे। इन कबूतरों के पालक माता रानी चौक निवासी गुरनाम सिंह ने घर में लगे सीसीटीवी की फुटेज के आधार पर खुद ही चोरों को तलाशा। पुलिस चौथे आरोपी की तलाश कर रही है। गुरनाम सिंह की शिकायत पर रविवार रात सेक्टर-9 पुलिस ने चोरी का केस दर्ज किया था।

ई-रिक्शा व सीएनजी ऑटो की एजेंसी चलाने वाले गुरनाम सिंह ने बताया कि कबूतर पालना उसका शौक है। उन्हाेंने गोहाना, संभालखा, पंजाब के फरीदकोट व जैतो से कबूतर लिए थे। इनमें तहदार व लक्खा नस्ल के कबूतर भी हैं जो कबूतरों की इनामी प्रतियोगिता में बाजी लगाने के काम आते हैं। उसने अपने कबूतरों में से 25 को प्रशिक्षित भी किया हुआ था।

उन्हाेंने घर की छत पर बने कमरे से इन कबूतरों के चोरी होने के बाद कबूतरों के कमरे व घर की सीढ़ियाें पर लगे सीसीटीवी चेक किए तो उसमें आराेपी नजर आए। उन्हाेंने जंडली बस स्टैंड, कैंट ढाबों व माया वाला चौक के सीसीटीवी में भी इन आराेपियाें को देखा। जिसके बाद पता चला कि आरोपी डेहा कॉलोनी कैंट के रहने वाले हैं।

जब इनके फोटो डेहा कॉलोनी में दिखाए तो वहां से एक लड़के को पकड़कर पुलिस को सौंपा व अपनी शिकायत दी। गुरनाम सिंह ने बताया कि उसे कबूतरों को पालने का शौक है, इनमें से कई कबूतर 10 हजार रुपए तक के थे। सभी कबूतर लगभग 90 हजार रुपए के थे।

आरोपी सभी कबूतर बोरी में भरकर ले गए थे। जिनसे पुलिस ने करीब 30 कबूतर व सिलेंडर बरामद कर लिया है। आरोपियों ने कुछ कबूतरों को डेहा कॉलोनी व शाहाबाद में बेच भी दिया। वहीं, सेक्टर-9 थाना प्रभारी सुरेश कुमार ने बताया कि सभी आरोपी नाबालिग हैं। इनमें से 3 आरोपियों को संरक्षण में लिया है, जिनसे कुछ कबूतर बरामद किए हैं। जिन्हें न्यायालय में पेश किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...