पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • After 74 Days, At Least 65 Corona Patients Were Found, Now Instead Of Urban Areas, Double The Cases Are Being Found In Villages

कोरोना का गिरता ग्राफ:74 दिन बाद सबसे कम 65 कोरोना मरीज मिले, अब अर्बन एरिया के बजाय गांवों में मिल रहे दोगुने केस

अम्बाला सिटी24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पीएचसी कुराली में सैंपल लेतीं डॉ. सुनीला वत्स। - Dainik Bhaskar
पीएचसी कुराली में सैंपल लेतीं डॉ. सुनीला वत्स।
  • जितनी तेजी से मरीज बढ़े थे, उतनी ही तेजी से कम हो रहे, अस्पतालों में अब 167 मरीज ही एडमिट
  • शनिवार को हुए 2307 टेस्ट में से 2.81 फीसदी की दर से मिले पॉजिटिव केस

कोरोना का ग्राफ अब तेजी से सिमटता जा रहा है। 4 मई को जहां जिले में 608 मरीज मिले थे, वहीं अब रविवार को 74 दिन बाद 65 केस मिले हैं। शनिवार को 2307 टेस्ट हुए थे। यानी संक्रमण दर 2.81 प्रतिशत रही। इतने कम केस 74 दिन बाद मिले हैं। इससे पहले 18 मार्च को 66 केस मिले थे।

जिस तेजी से कोरोना केस बढ़े थे अब उसी रफ्तार से ये कम भी होने लगे हैं । लगातार कम हो रही संक्रमण दर का ही असर है कि अब अस्पतालों में महज 167 मरीज एडमिट हैं। सरकारी अस्पतालों में 93 मरीज ऑक्सीजन व 22 वेंटीलेटर पर हैं। अब जिले में ऑक्सीजन को लेकर सरप्लस जैसी स्थिति है।

जिले के अस्पतालों की कोविड यूनिट तेजी से खाली हो रही हैं। जिले में अब 686 एक्टिव केस रह गए हैं और इनमें से भी 519 मरीज होम आइसोलेट हैं। रविवार को मिले केसों की तुलना में दोगुने से भी ज्यादा यानी 142 मरीज ठीक होने के बाद डिस्चार्ज हुए। जिससे अब जिले का रिकवरी रेट 96.04 प्रतिशत हो गया है।

10 दिन में मौतों की संख्या घटी

चिंताजनक पहलू यह भी है कि अब शहरों के बजाय गांवों में दोगुने केस मिल रहे हैं। इसका अंदाजा रविवार को मिले मरीजों से ही लगाया जा सकता है। अम्बाला सिटी से 10 व कैंट से 7 केस मिले हैं। जबकि अकेले शहजादपुर से ही 19 केस मिले हैं।

इसी प्रकार बराड़ा से 15, मुलाना से 6, चौड़मस्तपुर सीएचसी के एरिया में 8 केस मिले। जबकि नारायणगढ़ में कोई केस नहीं मिला। अभी जो मरीज होम आइसोलेट या एडमिट हैं उनमें से गांवों के लोगों की संख्या ज्यादा है। अभी सिटी में 138 व कैंट में 61 होम आइसोलेट हैं।

इसी प्रकार मुलाना में 108, बराड़ा में 53, नारायणगढ़ में 12 व शहजादपुर में 121 मरीज होम आइसोलेट हैं। वहीं, रविवार को 3 लोगों की कोरोना से मौत हो गई। जिससे मौतों का आंकड़ा 478 पहुंच गया है। मई में ही 237 लोगों की जान जा चुकी है। हालांकि, कोरोना से 20 मई तक जहां रोजाना औसतन 9 मौतें हो रही थीं वहीं, अब यह औसत 4 के पास है।

हालांकि, अभी भी जिले की कोरोना मृत्यु दर प्रदेश की औसत कोरोना मृत्यु दर से लगभग डेढ़ गुना ज्यादा है। जिले में यह दर 1.60 प्रतिशत है जबकि राज्य में यह दर औसतन 1.08 प्रतिशत है।

18+ कैटेगरी में महज 30 को लगी वैक्सीन

रविवार को जिले में 2989 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। इनमें से 15 लोगों को को-वैक्सीन लगी। हालांकि, 18 प्लस में महज 30 लोगों को ही वैक्सीन लगी। सबसे ज्यादा 2505 फ्रंट लाइन वर्कर को पहली डोज लगाई गई। वहीं, 45 से 60 साल के आयु वर्ग में 225 को पहली डोज व 60 को दूसरी डोज लगाई गई।

इसी प्रकार 60 साल से अधिक के आयु वर्ग में 107 को पहली डोज व 56 को दूसरी डोज लगाई गई। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक अभी तक जिले में 4,13,439 को कोरोना वैक्सीन लगाई गई है और इनमें से 1,00,417 ने दूसरी डोज भी लगवा ली है। इस महीने अब तक 81,891 को वैक्सीन की पहली डोज व 37,959 को दूसरी डोज लगी है।़

इंद्रपुरी से 3 और कम्बासी से 7 मरीज मिले

सिटी के इंद्रपुरी से 3 कोरोना मरीज मिले हैं। वहीं, जलबेहड़ा रोड, सेठी एंक्लेव, अमरा कॉलोनी, महावीर नगर, पटेल रोड, रतनगढ़, नसीरपुर, शिवपुरी कॉलोनी, अशोक विहार, पटेल रोड व मनमोहन नगर से एक-एक मरीज मिला। इसी प्रकार कैंट में गुरु अर्जुनपुरा कॉलोनी से 2 व बीसी बाजार से एक मरीज मिला।

बराड़ा के कम्बासी से 7, केसरी से 2 व अधोया से एक मरीज मिला। शहजादपुर के भूड माजरी से 5, कक्कड़ माजरा से एक मरीज मिला। मुलाना में डुलियानी, संभालखा, धनोरा से एक-एक मरीज मिले।

खबरें और भी हैं...