पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मारपीट का मामला:दुष्यंत चौटाला के हस्तक्षेप के बाद हरपाल कांबोज और विवेक ललाना के बीच समझौता

अम्बाला8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हरपाल सिंह, शहरी प्रधान जेजेपी। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
हरपाल सिंह, शहरी प्रधान जेजेपी। (फाइल फोटो)
  • देवीलाल जयंती पर झगड़े के बाद शहरी प्रधान व प्रदेश प्रवक्ता में हुई थी मारपीट

ताऊ देवी लाल जयंती पर 25 सितंबर को सेक्टर-8 के ताऊ देवीलाल भवन में लगाए रक्तदान शिविर में जजपा शहरी प्रधान हरपाल सिंह कांबोज व प्रदेश प्रवक्ता विवेक चौधरी ललाना के बीच हुए झगड़े में समझौता हो गया। उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने दोनों पक्षों को बुलाकर सुलह कराई। हालांकि कंबोज ने चौधरी पर 27 सितंबर को सेक्टर-9 थाने जो एफआईआर दर्ज कराई थी वो कोर्ट में ही कैंसिल होगी।

पंचायती समझौते का शपथ पत्र पुलिस को दे दिया गया है। थाना प्रभारी हमीर सिंह ने पुष्टि की कि दोनों पक्षों ने आपसी समझौता होने बारे एफिडेविट दिया है। अब इस मामले को कैंसिल कराने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। उल्लेखनीय है कि विवेक ललाना, राकेश व अन्य पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने, मारपीट करने, जान से मारने की धमकी देने व आर्थिक क्षति पहुंचाने की धाराओं में केस दर्ज किया था। कंबोज ने पुलिस को दी शिकायत में आरोप लगाया था कि विवेक चौधरी ने डंडों व कस्सी से दोबारा से हमला कर किया था। हमले में उनका भतीजा विरेंद्र सिंह भी घायल हुआ था।

दुष्यंत चौटाला ने फोन कर बुलाया था। जहां विवेक चौधरी ने माफी मांग ली थी। यह पार्टी का मसला था और मेरी संतुष्टि हो गई थी इसलिए इस मामले में कार्रवाई नहीं करने को लेकर पुलिस को शपथ पत्र दे दिया है। हरपाल सिंह, शहरी प्रधान जेजेपी।

समझौता हो गया है। एफआईआर कोर्ट से केस कैंसिल होनी है। यह पार्टी का मामला था और पार्टी ने निपटा दिया है। मैं तो पहले ही कह रहा था कि यह मामला कैंसिल हो जाएगा। विवेक चौधरी, प्रवक्ता जेजेपी।

खबरें और भी हैं...