अंबाला में गृह मंत्री के नाम पर 10 लाख हड़पे:रिटायर्ड फौजी के बेटे को सरकारी नौकरी लगवाने का दिया था लालच; केस दर्ज

अंबाला3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के अंबाला में गृह मंत्री अनिल विज के नाम पर रिटायर्ड फौजी से 10 लाख रुपए हड़पने का मामला सामने आया है। आरोपियों ने रिटायर्ड फौजी को उसके बेटे को बिजली निगम में सरकारी नौकरी लगवाने का लालच दिया था। नौकरी न लगने पर आरोपी जान से खत्म करने की धमकी दे रहे हैं। मामला पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में आने के बाद आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

SP जशनदीप सिंह रंधावा के नाम सौंपी शिकायत में आर्मी से रिटायर्ड गांव नहौनी निवासी निर्मल राम ने बताया कि गांव दनारपुर निवासी सुरजीत सिंह और गांव केसोपुर निवासी संजय चौधरी ने गृह मंत्री अनिल विज का नाम लेकर बिजली निगम में नौकरी लगवाने के नाम पर 10 लाख रुपए हड़प लिए। रुपए वापस मांगने पर गाली-गलौज करने के साथ-साथ जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। आरोप लगाए कि उसने 5 अगस्त को कलालटी चौकी में शिकायत सौंपी थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की।

मुलाना पुलिस थाना।
मुलाना पुलिस थाना।

कहा था गृह मंत्री के साथ है सीधी बात
निर्मल राम ने बताया कि 07 फरवरी 2021 को उसकी रिटायरमेंट पार्टी में उसके बेटे साहिल के दोस्त का दोस्त सुरजीत सिंह आया था। यहां सुरजीत सिंह ने उसके बेटे साहिल को बिजली निगम में सरकारी नौकरी लगवाने की बात कही थी। उसने कहा था कि उसके जानकार संजय चौधरी की गृह मंत्री से सीधी बात है।

12 लाख रुपए में हुई डील
आरोपियों ने नौकरी लगवाने के नाम पर 15 लाख मांगे थे, लेकिन फाइनल डील 12 लाख में हुई। आरोपियों ने पहले 10 लाख रुपए मांगे थे, बाकी 2 लाख नौकरी लगने के बाद। उसने 14 मार्च 2021 को 2 लाख, 8 मई को 2.50 लाख, 22 अगस्त को 3 लाख, 20 नवंबर को एक लाख रुपए आरोपियों को दिए। जनवरी 2022 में आरोपियों ने फाइल लगने की बात कहते हुए 2-3 महीने में नौकरी लगने की बात कही। उसने आरोपियों की बातों में आकर 10 जनवरी 2022 को बकाया डेढ़ लाख रुपए भी दे दिए।

बोले- मंत्री जी के पास पड़ी है फाइल
शिकायतकर्ता ने कहा कि आरोपियों से उसने फरवरी 2022 में पूछा तो कहा कि फाइल लगा दी है। UP इलेक्शन के चलते काम नहीं हुआ। संजय ने उसे मंत्रालय में किसी व्यक्ति से साहिल की फाइल के बारे में हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग भी भेजी थी। पूछने पर आरोपियों ने कहा कि साहिल की फाइल मंत्री जी के पास पड़ी है, जब कुछ होगा तो बता देंगे। जब उसने सुरजीत सिंह व संजय चौधरी से मंत्री के जनता दरबार में जाने की बात की तो आरोपी बोले कि इस बारे में मंत्री जी से कोई बात मत करना। हमारी मंत्री जी से कोई बातचीत नहीं है। आरोपियों ने थोड़े-थोड़े करके पैसे वापस लौटाने की बात कही। बताया कि आरोपी संजय चौधरी ने सिर्फ डेढ़ लाख रुपए लौटाए।

जान से मारने की दे रहे धमकी
निर्मल राम ने बताया कि दोनों आरोपियों ने मिलीभगत करके गृह मंत्री के नाम से 10 लाख रुपए हड़पे हैं। वापस रकम मांगने पर जाने से मारने की धमकी मिल रही है। मुलाना थाना पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 406, 420 व 506 के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।