• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Ambala News: Home Minister Anil Vij Targets The Opposition Said Some Family Parties And Gags Started Robbing The Country

गृह मंत्री अनिल विज का विपक्ष पर निशाना:बोले- पीपल रिप्रेजेंटेशन एक्ट की तब्दीली के बाद से CM हुए तानाशाह; प्रजातंत्र को जिंदा रखना जरूरी

अंबाला2 महीने पहले
गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि मीडिया एक आइना है। उसको वही दिखाना चाहिए, जो वास्तविकता है। प्रजातंत्र को जिंदा रखना आज के वक्त की सबसे बड़ी जरूरत है। गृह मंत्री ने कहा कि कुछ पारिवारिक पार्टियां और गैंग देश को लूटने में लगे हैं। इनमें प्रजातंत्र का कोई मूल्य नहीं है। वे रविवार को अंबाला कैंट में एक पत्रकार संगठन द्वारा आयोजित कार्यक्रम में संबोधित कर रहे थे।

पीपल रिप्रेजेंटेशन एक्ट की तब्दीली के बाद से CM हुए ज्यादा तानाशाह

विज ने कहा कि विशेष तौर से राजीव गांधी के समय से जब उन्होंने पीपल रिप्रेजेंटेशन एक्ट को तब्दील करके दल-बदल होता था उसे खत्म करने के लिए जो कानून लाया गया था उसके बाद मुख्यमंत्री ज्यादा तानाशाह हो गए। राजीव गांधी राजनीतिज्ञ नहीं, एक पायलट थे, उन्हें राजनीति विषय पर प्रतिक्रिया का एहसास नहीं था। उन्होंने दल-बदल का इलाज किया, मगर उसके साथ 50 समस्याएं और खड़ी हो गई।

आज लोगों की जो सोच व जरूरतें है आज वह सरकारों में जाकर उनकी सोच को पहुंचा नहीं सकते। कहा कि किसी तानाशाह के हाथ में देश आ गया तो क्या होगा आपने देखा। मगर उसका विधायक दल गलत काम करता है तो जनता उसको सजा देती है, यदि उसका मुखिया गलत काम करता है तो जनता उसे सजा देती है। मगर आज जनता सजा नहीं दे सकती और आपको सहना और झेलना पड़ेगा। यदि दल बदल कानून लागू ही करना था तो यह करना चाहिए था कि जो जिस दल से खड़ा है वह अपना दल बदल नहीं सकता।

कार्यक्रम में संबोधित करते गृह मंत्री अनिल विज।
कार्यक्रम में संबोधित करते गृह मंत्री अनिल विज।

प्रजातांत्रिक व्यवस्था का ढांचा कहीं न कहीं हिल रहा

उन्होंने कहा कि कार्यपालिका, न्यायपालिका, विधान पालिका और मीडिया प्रजातंत्र के 4 स्तंभ हैं, लेकिन हम गौर करें तो प्रजातांत्रिक व्यवस्था का ढांचा कहीं न कहीं हिल रहा है। प्रजातंत्र में पत्रकारों की अहम भूमिका हैं, वहीं इसके प्रहारी हैं। पार्टी और नेता तो आपस में मिल भी सकते हैं। कुछ चीजों पर मिट्‌टी भी डाल सकते हैं, ताकि जो वास्तविकता है वह लोगों को नजर न आए, लेकिन मीडिया एक आइना है। कहा कि सत्ता पक्ष भले ही कुछ कह रहा है, लेकिन जो सच्चाई है वह जनता तक पहुंचाना मीडिया की जिम्मेदारी है। पत्रकारों ने हमेशा से निष्पक्ष और निर्भरता से पत्रकारिता की है। अभी भी करने की जरूरत है।

इमरजेंसी के भी देखे हालात

गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि उन्होंने इमरजेंसी के भी हालात देखे हैं। उस समय की परिस्थितियों में भी पत्रकारों ने अपनी दायित्व को बखूबी निभाया। एक अंग्रेजी अखबार की बिल्डिंग को जला दिया गया था और हिंदी अखबार के ऑफिस की लाइट बंद कर दी गई थी। ऐसे समय में भी ट्रैक्टर की लाइट में भी खबरें प्रकाशित हुई थी।