पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रिश्तेदार, मित्र व बैंक कर्मी बन ठगी कर रहे आरोपी:पुलिस के सुझावों को अपनाकर साइबर क्राइम से बचें

अम्बाला15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एसएसपी हामिद अख्तर। - Dainik Bhaskar
एसएसपी हामिद अख्तर।
  • एसएसपी बोले- बचने का जागरूकता ही उपाय

साइबर क्राइम से बचने के लिए अम्बाला पुलिस ने आम नागरिकों को सतर्क रहने के साथ बचाव के तरीके सुझाए हैं। एसएसपी हामिद अख्तर ने बताया कि इसके लिए जागरूकता ही एकमात्र उपाय है, क्योंकि साइबर अपराधी रोजाना नए तरीकों से लोगों से ठगी कर रहे हैं। जो कभी रिश्तेदार, मित्र, बैंक कर्मी व अधिकारी, सैन्य अधिकारी बन खातों से पैसा निकाल रहे हैं तो कभी बीमा पॉलिसी का लाभ रिवार्ड प्वाइंट दिलाने का झांसा दे रहे हैं।

बैंक अधिकारी व कर्मचारी बनकर: साइबर अपराधी लोगों को काॅल करके कहते हैं कि बैंक अधिकारी और कर्मचारी बोल रहे हैं। आपके खाते को अपडेट किया जा रहा है, एटीएम कार्ड ब्लाॅक हो गया है, क्रेडिट कार्ड जारी किया जा रहा है। इसके बाद खाते की जानकारी लेकर ठगी कर लेते हैं।

बीमा पाॅलिसी लाभ देने के नाम पर: बंद हो चुकी बीमा पाॅलिसी को फिर चालू करने व उसका लाभ दिलाने का झांसा देकर बैंक की जानकारी मांग कर ठगी करते हैं।

रिवार्ड प्वाइंट: ऑनलाइन खरीदारी पर रिवार्ड प्वाइंट दिलाने का झांसा देते हैं। इसके बाद खाते की जानकारी लेकर ठगी करते हैं।

रिश्तेदार या मित्र बनकर: रिश्तेदार और मित्र बनकर काॅल करते हैं। खाते में रकम भेजने का झांसा देते हैं। क्यूआर कोड स्कैन करने के लिए कहा जाता है और साइबर ठगी की जाती है।

सैन्य अधिकारी बनकर: सैन्य अधिकारी बनकर आॅनलाइन शाॅपिंग साइट पर फर्नीचर या बाइक को सस्ते दामों पर बेचने का झांसा देते हैं। सामान की डिलीवरी से पहले खाते में रकम जमा करा लेते हैं और इसके बाद मोबाइल बंद कर लेते हैं।

ऑनलाइन बिक्री: साइबर अपराधी आनॅलाइन शाॅपिंग साइट पर विज्ञापन देने वाले को काॅल करते हैं। सामान खरीदने का झांसा देकर एक लिंक भेजते हैं जो यह खाते में रकम आने की बजाय रकम निकालने का होता है।

ट्रेजरी अधिकारी बनकरः ठग पेंशनधारकों को काॅल करते हैं और उन्हें पेंशन दिलाने का झांसा देते हैं। इसके बाद खाते की जानकारी लेकर रकम निकाल लेते हैं।

सोशल मीडिया पर दोस्ती कर: आज-कल सबसे आम साइबर अपराध है सेक्सटाॅर्शन, जिसमें साइबर ठग लड़की की आईडी से सोशल मीडिया पर आपको फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते हैं। अपनी बातों में लाकर मैसेंजर पर या वाट्सएप पर नंबर मांगकर आपको न्यूड वीडियोकाॅल करने को कहते हैं। इसकी रिकाॅर्डिंग कर आपको ब्लैकमेल करते हैं और पैसों की मांग करते हैं।

सावधानी ही बचाव
साइबर अपराधों से बचने के लिए जागरूक होना बहुत आवश्यक है। बैंक खाता, एटीएम कार्ड की जानकारी, ओटीपी पिन इत्यादि कभी भी साझा न करें। अनजान का क्यूआर कोड कभी स्कैन न करें। अनजान व्यक्तियों को सोशल मीडिया पर फ्रेंड लिस्ट में न रखें। किसी तरह का लाभ दिलाने की बात करने वालों की बातों में न आएं। पेंशन अधिकारी बनकर काॅल करने वालों से सावधान रहें। किसी सामान की खरीदारी प्रमुख कंपनी की वेबसाइट से ही करें एवं पहले पेमेंट करने से बचें।

खबरें और भी हैं...