• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Awareness Will Be From Police PCR Including Garbage Collection Vehicles, Kovid Report Is Mandatory Before Operation In Government Hospital

अंबाला में 150 बच्चे कोरोना संक्रमित:कुल एक्टिव केसों में 6 ओमिक्रॉन के मरीज; पुलिस PCR करेगी जागरूक, कूड़ा उठाने वाले भी समझाएंगे

अंबाला11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा का अंबाला जिला पिछले कुछ दिनों में कोरोना हॉटस्पॉट बनकर उभरा है। जिले में वर्तमान में कोरोना के 650 केस एक्टिव हैं। इनमें से 6 मरीज ऑमिक्रॉन वैरिएंट के हैं। 18 साल से कम वाले 150 बच्चे कोरोना की चपेट में हैं। 10 माह की बच्ची में भी कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन मिला है। 5 जनवरी को 18, 6 जनवरी को 21, 7 जनवरी को 18 बच्चे संक्रमित पाए गए।

बच्चों के निरंतर बढ़ रहे कोरोना मामलों को लेकर स्वास्थ्य विभाग की टेंशन बढ़ गई है। अंबाला में 4 साल की उम्र वाले कुल 1 लाख 13 हजार 219 बच्चे हैं। 5 से 9 साल के बीच 1 लाख 19 हजार 779, 10 से 14 साल तक 1 लाख 27 हजार 554 तो 15 से 19 तक 1 लाख 28 हजार 283 बच्चे हैं। वहीं बच्चों में कोरोना महामारी तेजी से फैल रही है, जो चिंता का विषय है।

प्रशासन-पुलिस मिलकर चलाएगी जागरुकता अभियान
नगर निगम, नगर परिषद सहित व पुलिस के वाहन अब कोरोना का प्रचार करते हुए दिखाई देंगे। अंबाला में बेकाबू हो रहे कोरोना व ओमिक्रॉन के मामलों को लेकर जिला प्रशासन गंभीर हो गया है। इसलिए अब गली-गली में जाकर ऑडियो रिकॉर्डिंग से मास्क पहनने सहित सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ पढ़ाया जाएगा। साथ ही धार्मिक स्थलों की भी जागरुकता के लिए मदद ली जाएगी। डीसी अंबाला विक्रम सिंह ने इसको लेकर निर्देश दिए हैं।

ऑपरेशन से पहले फाइल में लगेगी कोविड रिपोर्ट

डॉक्टर सहित अस्पताल स्टाफ के संक्रमित होने के बाद अंबाला कैंट सिविल अस्पताल में बिना कोविड रिपोर्ट के ऑपरेशन नहीं होंगे। पीएमओ डॉ. राकेश सहल ने इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं। ऑपरेशन से पहले कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट लगाने के बाद ही ऑपरेशन होंगे। इससे ऑपरेशन के लिए वेटिंग बढ़ गई है। बता दें कि अंबाला कैंट के गत दिवस ही पथरी के ऑपरेशन से ठीक पहले मरीज कोरोना संक्रमित पाया गया था।

कोरोना मृतकों के परिजनों को सरकार देगी 50 हजार

कोविड-19 मृतक के परिजन को हरियाणा सरकार 50,000 रुपए की अनुग्रह सहायता देगी। इसके लिए आवेदक को अंत्योदय सरल पोर्टल- एचटीपीपी//सरलहरियाणा.जीओवी.इन/ पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। प्रदेश सरकार द्वारा इस सेवा को परिवार पहचान पत्र से एकीकृत करके विकसित किया गया है। आवेदक को अपने आवेदन के साथ मृत्यु प्रमाण पत्र व कोविड-19 पॉजिटिव रिपोर्ट की एक-एक प्रति लगानी होगी। 30 दिनों के अंदर आवेदन दावों का निपटारा किया जाएगा। इसके लिए जिला स्तर पर दो शिकायत निवारण समितियों का गठन किया गया है।

खबरें और भी हैं...