पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विरोध:भाजपा पार्षदों ने डीसी के नाम सौंपे ज्ञापन में कहा-निगम मीटिंग भ्रम फैलाने वाली

अम्बाला13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हजपा पार्षदों ने मीटिंग में अधिकारियों के न पहुंचने पर कमिश्नर के खिलाफ की नारेबाजी

नगर निगम की मीटिंग को लेकर भाजपा और हजपा पार्षद आमने-सामने खड़े हो गए हैं। भाजपा पार्षदों ने सीटीएम आंचल भास्कर को डीसी के नाम ज्ञापन देकर कहा कि मेयर ने सदन की जो मीटिंग वीरवार को की है, वह भ्रम तथा अराजकता फैलाने वाली है।

मेयर के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। वहीं, हजपा पार्षदों ने सदन की मीटिंग के बाद नगर निगम में पहुंचकर कमिश्नर पार्थ गुप्ता के खिलाफ नारेबाजी की। उनका रोष मीटिंग में अधिकारियों के न पहुंचने पर था।भाजपा पार्षदों ने कहा कि वह सरकार के साथ चलकर शहर का विकास कराना चाहते हैं।

निगम की सारी कार्रवाई निगम एक्ट 1994 के तहत होनी चाहिए। मेयर ने निगम के एक्ट 54 व 57 की धज्जियां उड़ाते हुए वीरवार को मीटिंग बुलाई। मेयर का यह कदम शहर के विकास में कानूनी अड़चनें पैदा करेगा। ज्ञापन देने वालों में हितेष जैन, अर्चना छिब्बर, यतिन बंसल, मोनिका मल, शोभा सिंह, मीना ढींगरा शामिल हैं।

कमिश्नर को लेटर मिलने पर भी संशय | कमिश्नर को मेयर शक्ति रानी शर्मा की तरफ से निगम की मीटिंग बुलाने में संशय पैदा हो गया है। कमिश्नर पार्थ गुप्ता मेयर को लेटर लिखकर कहते हैं कि उन्हें मीटिंग बुलाने के लिए लेटर 15 फरवरी को मिला है। कम से कम 5 दिन का वक्त मीटिंग के लिए चाहिए, लेकिन भाजपा पार्षदों ने डीसी के नाम ज्ञापन में कहा कि कमिश्नर को 16 फरवरी को मीटिंग का लेटर मिला है। वहीं, मेयर का कहना है कि वह 13 फरवरी को मीटिंग बुलाने के लिए कमिश्नर को लेटर लिख चुकी थीं।

हजपा पार्षदों ने भी हैरानी जताई कि आखिर कमिश्नर को मीटिंग बुलाने का लेटर देरी से क्यों मिला। जबकि लेटर 13 फरवरी को ही डायरी हो चुका था। जिस अधिकारी या कर्मी ने कमिश्नर को दो दिन देरी से लेटर दिया, वह सबसे बड़ा जिम्मेदार है।

सिटी नगर निगम में नारेबाजी करते जनचेतना पाटी के पार्षद।
सिटी नगर निगम में नारेबाजी करते जनचेतना पाटी के पार्षद।

शक्ति रानी ने खुद मेयर साबित करने के लिए मीटिंग बुलाई: हितेष | भाजपा के मंडल प्रधान एवं वार्ड-16 के पार्षद हितेष जैन ने कहा कि कमिश्नर ने मेयर शक्ति रानी शर्मा के कहने पर निगम की बैठक नहीं बुलाई, लेकिन शक्ति रानी शर्मा ने खुद को मेयर साबित करने के लिए अपने पार्षदों के साथ वीरवार को पंचायत भवन में बैठक बुलाकर अपना शक्तिशाली होने का सबूत दिया है।

यदि मेयर वाकई शक्तिशाली हैं और खुद को कमिश्नर और कानून से ऊपर समझती हैं तो 23 फरवरी की बैठक का अपने पार्षदों के साथ बहिष्कार करें। जैन ने कहा कि शक्ति रानी शक्तिशाली हैं तो शक्तिशाली बनकर दिखाएं। अगर नहीं हैं तो अम्बाला की जनता से माफी मांगे। सच झूठ का फैसला अब मीटिंग में होगा। मेयर ने वीरवार को बैठक का प्रपंच रचा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें