• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • BJP's Nominated Councilor Said Before Taking Oath, I Will Teach Legal Lesson, Jan Chetna Party Councilor Said That Hooliganism Is Happening

अंबाला शहर नगर निगम की बैठक में एजेंडे पास नहीं:चार घंटे बाद मीटिंग स्थगित, मेयर और अधिकारी नहीं जानते कि मनोनीत पार्षद वोट डाल सकते हैं या नहीं

अंबाला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम बैठक में रोष जताते भाजपा मनोनीत पार्षद संदीप सचदेवा। - Dainik Bhaskar
नगर निगम बैठक में रोष जताते भाजपा मनोनीत पार्षद संदीप सचदेवा।

अम्बाला शहर नगर निगम की बुधवार को हुई बैठक में जमकर हंगामा हुआ। नगर निगम की तीन महीने बाद हुई यह बैठक 4 घंटे चली। मनोनीत पार्षदों के वोट नहीं कर पाने की वजह से एजेंडे पास नहीं हो पाए और बैठक स्थगित करनी पड़ गई। दरअसल निगम मीटिंग में मौजूद मेयर और अधिकारियों को इस बात की जानकारी नहीं थी कि दोनों मनोनीत पार्षद एजेंडे पास करने के लिए वोट दे सकते हैं या नहीं? इससे पहले सुबह बैठक शुरू होते ही भाजपा के मनोनीत पार्षदों संदीप सचदेवा व सुरेश सहोता को लेकर हंगामा हो गया।

अंबाला नगर निगम की बैठक में रोष जताते जन चेतना पार्टी के पार्षद।
अंबाला नगर निगम की बैठक में रोष जताते जन चेतना पार्टी के पार्षद।

सेक्शन के सवाल पर हंगामा

सुबह नगर निगम की बैठक में भाजपा पार्षद हितेश जैन ने एक सेक्शन के बारे में मेयर शक्ति रानी से सवाल किया। इस पर राजेश मेहता बोले कि घर से पढ़कर आया करो, बैठक का समय खराब होता है। इसी बात को लेकर भाजपा के मनोनीत पार्षद संदीप सचदेवा भड़क गए। ​​​​​​​गुस्से में लाल-पीले होते हुए ​​​​​​​सचदेवा ने मेहता को टारगेट करते हुए यहां तक कह डाला कि वह अभी कानून का पाठ पढ़ा देंगे। इससे नाराज जन चेतना पार्टी के पार्षद राजेश मेहता ने कहा कि निगम बैठक में गुंडागर्दी हो रही है और वह बैठक से उठकर जा रहे हैं।

मामला बिगड़ता देखकर मेयर शक्तिरानी ने दखल दिया और संदीप सचदेवा को उनके व्यवहार के लिए चेताते हुए कहा कि उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। इस पर संदीप संचदेवा बैकफुट पर आ गए और कहा कि वह अपने शब्द वापस लेते हैं। इसके बाद जाकर मामला शांत हुआ।

अंबाला शहर नगर निगम की बैठक में अपनी बात रखते पार्षद।
अंबाला शहर नगर निगम की बैठक में अपनी बात रखते पार्षद।

बैठक में 9 प्रस्तावों पर चर्चा

नगर निगम की बैठक के एजेंडे में 9 प्रस्ताव रखे गए। 20 वार्डों के 18 पार्षद और दो मनोनीत पार्षद उपस्थित रहे। भाजपा के मनोनीत पार्षद संदीप सचदेवा व सुरेश सहोता को शपथ दिलवाई गई। इसके बाद एनडीसी और आवारा पशुओं के मुद्दे को लेकर चर्चा हुई। बैठक के बीच डेंगू के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए पार्षद मनीष कुमार ने फॉगिंग का भी मुद्दा उठाया। उन्होंने हर वार्ड में एक फॉगिंग मशीन देने की मांग की। बैठक में पिछली बैठकों पर मुद्दों पर चर्चा हुई।

अंबाला शहर नगर निगम की बैठक खत्म होने के बाद बाहर निकलते पार्षद।
अंबाला शहर नगर निगम की बैठक खत्म होने के बाद बाहर निकलते पार्षद।

इन मुद्दों पर हुई चर्चा

  • नगर निगम की बैठक में निगम एरिया में पिछले 2 साल में किए सीवरेज से संबंधित कार्यों की जांच की मांग उठी।
  • 2018 से 2020 तक कराए गए विकास कार्यों की सूची समयबद्ध अवधि सहित संबंधित वार्ड पार्षद को उपलब्ध कराने पर चर्चा हुई।
  • कूड़े के उठान के लिए 13 से 20 ट्रॉलियों को लगाने, प्रत्येक वार्ड में एक दारोगा नियुक्त करने, हुडा सेक्टरों से निगम के सफाई कर्मियों को वापस बुलाने, वार्ड-18 में पीएनबी के पास बने पार्क की दीवार गिरने के बाद ठेकेदार द्वारा गलत रास्ता बनाने, कोरोना काल में निगम द्वारा सैनिटाइजर और केमिकल खरीद की जांच के मुद्दे को बैठक में रखा गया।
  • कम्युनिटी सेंटर का किराया 5100 रुपए करने, वार्ड में विकास कार्य करने से पूर्व मेयर और पार्षद को सूचित करने, बेसहारा पशुओं को पकड़ने की अवधि बढ़ाने, निगम एरिया में छूटे गए खसरा नंबरों का सर्वे कराकर वैध करने के लिए सरकार से सिफारिश करने के प्रस्ताव पर चर्चा की गई।
  • पालतू पशुओं के सड़कों पर घूमने पर लोगों को जुर्माना लगाने के प्रावधान का मुद्दा भी बैठक में उठाया गया।