पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Case Was Registered In Shalimar Colony For Assaulting Neighbor, Troubled Shopkeeper Committed Suicide By Consuming Poison

जहर का सेवन कर जीवन लीला की समाप्त:शालीमार कॉलोनी में पड़ोसी से मारपीट करने पर केस दर्ज हुआ था, परेशान दुकानदार ने जहर खाकर जान दी

अम्बाला19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दीपक हांडा का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
दीपक हांडा का फाइल फोटो।
  • घर के सामने निक्कर पहनकर महिलाओं काे घूरने की बात पर झगड़ा, दीपक हांडा द्वारा अजय को पीटने का वीडियो वायरल हुआ था
  • दीपक हांडा ने सुसाइड नोट में दो दुकानदारों व केस दर्ज कराने वाले के भाई का नाम लिखा
  • झगड़े में घायल हुए अजय के सिर में गंभीर चोट, पीजीआई में हो चुका ऑपरेशन

निक्कर पहनकर घर की महिलाओं काे घूरने और गलत इशारे करने काे लेकर सिटी की शालीमार काॅलाेनी में दाे पड़ाेसियाें में विवाद हाे गया। बहस के बाद मामला बढ़ गया और करियाना शाॅप संचालक दीपक हांडा (39) और पड़ोसी अजय में झगड़ा हो गया। मारपीट में अजय के सिर में गंभीर चोट लगी और उसे पीजीआई ले जाना पड़ा। वहां उसके सिर का ऑपरेशन हुआ। इस मामले में करियाना शॉप संचालक दीपक हांडा पर केस दर्ज हो गया। केस दर्ज होने आहत दीपक हांडा ने 2 सितंबर काे जहरीला पदार्थ निगल लिया। परिवार उसे हीलिंग टच अस्पताल लेकर आया।

दीपक ने पुलिस को बयान भी दिए और फिर वेंटिलेटर सपोर्ट पर चला गया था। शनिवार आधी रात के बाद करीब 2 बजे दीपक की माैत हो गई। बलदेव नगर पुलिस ने दीपक हांडा की पत्नी टीचर संगीता हांडा की शिकायत व सुसाइड नोट के आधार पर युवक अजय के भाई विक्रम (वाे मारपीट मामले में शिकायतकर्ता है) व राधा कृष्ण बाजार के वीके इलेक्ट्रानिक्स के संचालक भाइयों विजय कुमार व राममूर्ति के खिलाफ आत्महत्या को उकसाने का केस दर्ज कर लिया है।

बलदेव नगर पुलिस के मुताबिक 2 सितंबर की रात 11:20 मिनट बजे उन्हें हीलिंग टच अस्पताल से दीपक हांडा के जहर खाने की सूचना मिली थी। डॉक्टर ने उसको बयान देने के हालत में नहीं बताया था लेकिन उसने परिजनों के सामने पूछताछ के दौरान बुड़बुड़ाते हुए बताया था कि उसने वीर जी की कुटिया के पास गेहूं में रखने वाली 3 गोलियां खाई हैं। उसका शालीमार कॉलोनी के अजय कुमार के साथ 27 अगस्त को झगड़ा हुआ।

अजय को सीढ़ियाें से नीचे गिरने से आई चोटों के चलते पीजीआई रेफर हुआ। राममूर्ति व विजय कुमार इस बात को लेकर टार्चर कर रहे हैं जो कहते हैं कि उसे जान से मार देंगे। पुलिस के मुताबिक वे 4 सितंबर को दोबारा से बयान लेने गए लेकिन उसके बयान दर्ज नहीं हो पाए थे। इस मारपीट का एक वीडियाे भी सामने आया है।

हांडा की टीचर पत्नी ने पुलिस को ये शिकायत दी

दीपक हांडा की शिक्षिका पत्नी संगीता हांडा ने पुलिस को जो शिकायत दी है उसके पति की 27 अगस्त को सामने रहने वाले पड़ोसी अजय कुमार से हाथापाई हुई थी। अजय अंडरवियर में खड़ा होकर लगातार उसे देखता रहता था। उसे एक-दो बार समझाया लेकिन नहीं माना। उसके पति ने उसे दुकान पर रोक कर समझाया तो वह कहने लगा कि जो करना है कर लो। बहस के दौरान पति ने अजय को धक्का दिया था। जिससे उसे सिर में चोट लग गई। अजय वीके इलेक्ट्रानिक्स पर वर्कर है और इसके मालिक विजय कुमार व राममूर्ति ने इस मामले को और बढ़ाकर पेश किया।

उन्होंने अपनी दुकान की सीसीटीवी से इस झगड़े की फुटेज निकलवा कर पूरे शहर में वायरल कर दी। इससे उसके पति और वह खुद मानसिक तौर पर परेशान हो गए थे। इसके बाद पति मोहाली चले गए और वह अपने दोनों बच्चों को लेकर मायके आ गई। 2 सितंबर को उसके पति उसे मिलने आए और सुसाइड नोट हाथ में देते हुए बोले कि अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है और अब खुद को खत्म कर रहा हूं। अपने सुसाइड नोट में उन्होंने सीधे तौर पर वीके इलेक्ट्रानिक्स वालों को जिम्मेदार ठहराया।

इससे पहले... अजय के भाई विक्रम की शिकायत पर हांडा पर ये केस दर्ज हुआ था
सिटी पुलिस ने इस मामले में घायल के भाई विक्रमजीत के बयान पर आरोपी दीपक हांडा पर 30 अगस्त को केस दर्ज किया था। विक्रम की शिकायत मुताबिक उसका छोटा भाई अजय वीके इलेक्ट्रानिक्स पर 12 साल से सेल्समैन है। उनके सामने ही दीपक हांडा का घर है जो अकसर उनसे छोटी-छोटी बातों के लिए झगड़ता रहता है। जब वे अपने घर में निक्कर बनियान पहने होते हैं तो वह कहता है कि उसके घर की तरफ क्यों झांक रहे हो।

ऐसी ही रंजिश में उसने 27 अगस्त की रात उसके भाई अजय को अपनी दुकान के सामने आवाज लगाई व झगड़ा करने लगा। उसने अजय को गर्दन से पकड़कर उसका सिर कई बार फर्श पर पटक दिया। अजय को गंभीर चोटें आई और दीपक ने धमकी दी कि दोबारा से उनके घर की तरफ देखा तो वह जान से मार देगा। गंभीर चोटें होने के चलते उसे सिटी सिविल अस्पताल से सेक्टर-32,चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया। अजय का पीजीआई में ऑपरेशन हुआ है लेकिन अभी तक उसे होश नहीं आ पाया है।

दीपक हांडा ने सुसाइड नोट में लिखा-

वीके इलेक्ट्रॉनिक्स के मालिकों ने मुझे धमकाया और बदनाम किया

श्रीमान एसपी साहब अम्बाला सिटी, मैं दीपक हांडा पुत्र स्वर्गीय पन्ना लाल हांडा। मेरे जिसके ऊपर चौकी नंबर 1 में धारा 323, 506 के तहत केस दर्ज है। इस विषय में मैं आपको गहराई से विवरण कर रहा हूं। मेरे घर के सामने अजय नाम का लड़का रहता है। वह सुबह या रात को काम से आने के बाद अपने घर की दीवार से हमारे घर की लेडीज को तांक-झांक करता था। कई बार घर के सामने गेट पर अंडरवियर में भी आकर खड़ा हो जाता था व गंदे इशारे करता था। मैंने उसे बुलाकर प्यार से समझाया लेकिन वह नहीं माना और गाली-गलौच करने लगा। फिर चला गया कुछ कदम जाने के बाद वापस आकर तुझसे बाेला- जो होता है कर ले, मैं नहीं मानूंगा। हमारी बहस हो गई और मुझे गुस्सा आने की वजह से मैंने धक्का मुक्की कर दी और मेरा हाथ उसे लगने के कारण वह जमीन पर गिर गया। मुझे पीसीयूटी की बीमारी है जिससे मेरी हार्ट बीट तेज हो जाती है। मैं सुन्न हो गया और हार्ट बीट मेरी तेज हो गई और उसे उठा नहीं पाया। वहां खड़े लोगों ने उसे उठाया। तब तक उसका मालिक विजय (वीके इलेक्ट्रानिक्स) वाला आ गया। उसने उठाकर अस्पताल ले जाने की बजाय वहीं साथ वाली दुकान पर बिठा दिया। इतने में अजय का भाई विक्रम भी आ गया। वीके इलेक्ट्रानिक्स के मालिकों ने अपनी गाड़ी पर हॉस्पिटल ले जाने की बजाए ई-रिक्शा पर भेज दिया। बाद में सुबह गली में मुझे व मेरे घरवालाें काे बदनाम करके धमकाना शुरू कर दिया। अब मैं इस परेशानी से दुःखी आकर सुसाइड कर रहा हूं। मरता आदमी झूठ नहीं बोलता, मैंने ये सब लड़ाई जानबूझ कर नहीं की है। मैं इस सब परेशानियों से दुखी होकर आत्महत्या कर रहा हूं। और एक बात, नीचे जमीन पर गिरने के बाद वह ठीक ठाक साथ वाली दुकान पर बैठा रहा। दरअसल ये केस वीके इलेक्ट्रॉनिक्स और अजय के भाई के कारण ज्यादा बिगड़ा है। बाद में इन्होंने उसके साथ क्या किया, मुझे नहीं पता। कोई साजिश तो हुई है मेरे खिलाफ इसकी आप वीडियो देख लेना।(जैसा दीपक के सुसाइड नोट में लिखा)

खबरें और भी हैं...