उर्वरकों की ब्लैक मार्केटिंग:यूरिया और डीएपी खाद की काला बाजारी रोकने को कमेटियां गठित

अम्बाला सिटी2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो

खाद की कालाबाजारी रोकने के लिए डीसी अशाेक कुमार शर्मा ने खंड, उपमंडल स्तरीय व जिला स्तरीय कमेटियों का गठन किया है जो यूरिया व डीएपी उर्वरकों की ब्लैक मार्केटिंग, चोरी, उपलब्धता व खपत, खरीद की निगरानी करेंगे। यह कमेटी अपने-अपने क्षेत्र में निरंतर निरीक्षण व छापेमारी करेगी।

यदि कोई किसान या डीलर इस प्रकार की गतिविधि में संलिप्त पाया जाएगा तो उनके विरुद्ध दी-फर्टिलाइजर कंट्रोल आर्डर 1985 के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी। डीसी ने कहा कि यह कमेटियां संबंधित विषय पर तुरंत कार्रवाई करते हुए एक्शन टेकन रिपोर्ट कृषि एवं किसान कल्याण विभाग को भिजवाएगी। जिला स्तर की कमेटी में एसडीएम सिटी, डीएसपी व कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उप निदेशक को शामिल किया गया है।

इसी प्रकार से उपमंडल स्तर की कमेटी में संबंधित एसडीएम, डीएसपी अम्बाला, तहसीलदार, बीडीपीओ, उपमंडल कृषि अधिकारी व खंड कृषि अधिकारी शामिल हैं। जिला अम्बाला से पंजाब के सभी प्रवेश द्वारों पर कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की टीमें पुलिस विभाग के साथ 24 घंटे कार्यरत रहेंगी जोकि यूरिया की अनाधिकृत मूवमेंट पर अंकुश लगाने के लिए छापेमारी करेंगी।

खबरें और भी हैं...