पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फीडबैक:सिटी निगम चुनाव में हारे कांग्रेस प्रत्याशियों का शिकवा- पार्टी के दो नेताओं ने ठीक काम नहीं किया

अम्बाला3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सैलजा ने कैंट नगर परिषद चुनाव को लेकर स्थानीय नेताओं का मन टटोला
  • पार्षद प्रत्याशियों को सिंबल पर न लड़ाने के मूड में कांग्रेस

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सैलजा ने शनिवार को चंडीगढ़ में महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर अम्बाला सिटी और पंचकूला के निगम के कांग्रेस प्रत्याशियों और कैंट नप चुनाव के लिए लोकल कांग्रेसी नेताओं का मन टटोलने के लिए रायशुमारी की। सिटी निगम के प्रत्याशियाें ने पार्टी के दो स्थानीय नेताओं को हार के लिए जिम्मेदार ठहराया, जबकि कैंट के कांग्रेसियों से सिंबल पर चुनाव लड़ने के लिए राय मांगी। सैलजा ने पहले सभी की इकट्ठी मीटिंग ली। फिर सिटी नगर निगम प्रत्याशियों से एक-एक कर चुनाव का फीडबैक लिया।

पार्टी सूत्राें के मुताबिक निगम चुनाव हारे प्रत्याशियों ने पार्टी के दो नेताओं पर चुनाव में काम न करने का आरोप लगाया। कैंट के कांग्रेसियों से जब नगर परिषद चुनाव लड़ने को लेकर सुझाव पूछे गए तो उन्होंने कहा कि परिषद चुनाव को ज्यादा समय नहीं है। इसलिए पूर्व सीपीएस रामकिशन गुर्जर व मुलाना विधायक वरुण चौधरी को अभी से कैंट में सक्रिय होना चाहिए, ताकि कोई बड़ा चेहरा मैदान में नजर आए।

लोकल नेताओं का तर्क- कैंट नगर परिषद में पार्षद चुनाव सिंबल पर न लड़े तो भ्रम की स्थिति पैदा होगी

कांग्रेसियों के कैंट में चुनाव कमेटी बनाने की मांग पर सैलजा ने कहा कि ऐसे लोगों को कमेटी में लेना चाहिए जोकि चुनाव लड़ने के इच्छुक न हों, लेकिन कांग्रेसियों ने कहा कि ऐसी शर्त नहीं रखनी चाहिए, क्योंकि कई बार किसी का चुनाव लड़ने का मन और हालात बन सकते हंै। सिटी नगर निगम चुनाव के लिए जो कमेटी बनाई थी, उसमें वही नेता थे, जो चुनाव नहीं लड़े थे।

सैलजा ने कहा कि रेवाड़ी नगर परिषद में जैसे प्रधान पद के लिए सिंबल दिया था, पार्षदों के लिए किसी को सिंबल नहीं दिया था। उन्होंने कहा कि सिंबल न मिलने से बहुत से नेताओं के बागी होने का डर रहता है। इस पर पूर्व पार्षद ओंकार नाथी, परविंदर सिंह परी और हीरालाल यादव समेत कई नेताओं ने सभी प्रत्याशियों को पार्टी सिंबल देने की मांग रखी। उनका तर्क था कि सिर्फ प्रधान और प्रत्याशियों के सिंबल अलग-अलग होने से भ्रम की स्थिति पैदा हाे सकती है।

पार्टी के नेताओं ने सैलजा से शिकायत की कि अम्बाला में एक नेता अभी भी खुद को यूथ कांग्रेस का पदाधिकारी दिखाता है, जबकि कार्यकारिणी है नहीं। सैलजा ने इस मामले में एक्शन लेने की बात कही। सैलजा ने यह भी कहा कि हो सकता है कि चुनाव से पहले कार्यकारिणी गठित कर दी जाए। बैठक में पूर्व सीपीएस रामकिशन गुर्जर, विधायक वरुण चौधरी, रोहित जैन, वेणु अग्रवाल, सुधीर जायसवाल, अशोक जैन, मनीष राणा समेत कई स्थानीय नेता मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें