पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Construction Of Freight Corridor In Rajpura Stalled For 5 Days, Railway Officials Will Complain To Punjab Government

कार्य में बाधा:राजपुरा में फ्रेट काॅरिडोर का निर्माण 5 दिन से ठप, रेल अधिकारी पंजाब सरकार से करेंगे शिकायत

अम्बाला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजपुरा में ठप पड़ा डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का निर्माण कार्य। - Dainik Bhaskar
राजपुरा में ठप पड़ा डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का निर्माण कार्य।
  • निर्माण एजेंसी का आराेप- कागजात पूरे होने के बावजूद पंजाब पुलिस ने उनकी गाड़ियां पकड़ी, डीजीपी को शिकायत भेजी
  • मालगाड़ियाें के लिए अलग से बन रहा गलियारा

मालगाड़ियों के लिए अलग से बनाए जा रहे ईस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का निर्माण कार्य राजपुरा में 5 दिन से ठप पड़ा है। निर्माण एजेंसी ने पंजाब पुलिस पर निर्माण में बाधा डालने का आरोप लगाया है, जबकि इस मामले की शिकायत पंजाब डीजीपी के अलावा अम्बाला में डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (डीएफसीसीआईएल) अधिकारियों से की गई है। अब रेल अधिकारी पंजाब सरकार के समक्ष इस मामले काे उठाएंगे, ताकि निर्माण कार्य दाेबारा शुरू किया जा सके।

पंजाब में फ्रेट कॉरिडोर के लिए कुल 85 किलोमीटर लंबी लाइन बिछनी है जिसमें राजपुरा सेक्शन में 25 किलोमीटर लंबी लाइन बिछाई जा रही है। लाइन बिछाने के लिए मिट्‌टी की जरूरत थी और माइनिंग के लिए पंजाब सरकार को 1.80 करोड़ रुपए की रॉयल्टी भी जमा कराई थी। मगर, अब निर्माण एजेंसी का आरोप है कि तय स्थानों पर नियमों के अनुरूप माइनिंग करने व कागजात पूरे होने के बावजूद पंजाब पुलिस एजेंसी के ट्रकों को पकड़ रही है। उन्हें राजपुरा में बेवजह परेशान किया जा रहा है। इससे फ्रेट कॉरिडोर लाइन बिछाने का काम प्रभावित हो रहा है। करीब एक माह से यह दिक्कत बढ़ती जा रहा है।

बता दें कि निर्माण एजेंसी को डीएफसीसीआईएल द्वारा पिलखनी (सहारनपुर) से लुधियाना तक 180 किमी. क्षेत्र में लाइन बिछाने का कांट्रेक्ट अलॉट किया गया था। यह काम जून 2022 तक पूरा हाेना है। यदि काम ज्यादा दिन बंद हुआ तो आगे और समस्या खड़ी हो सकती है।

1856 किलोमीटर बनना है कॉरिडोर

बता दें कि रेलवे द्वारा ईस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का निर्माण पश्चिम बंगाल से लुधियाना तक किया जा रहा है। इसकी कुल लंबाई 1856 किलोमीटर है। अम्बाला प्रोजेक्ट के तहत पिलखनी से लुधियाना तक 2507 करोड़ रुपए की लागत से लाइन बिछाई जा रही है। यह प्रोजेक्ट रेलवे के बड़े प्रोजेक्टों में से एक है।

पूरे नियमों के अनुरूप साइट पर काम किया जा रहा है। मगर, पुलिस द्वारा लगातार गाड़ियां पकड़ने से काम रुका है। अब पंजाब सरकार के सचिव से बात कर मामला उनके संज्ञान में लाया जाएगा, ताकि रुके काम को फिर से आरंभ कराया जा सके।
संदेश श्रीवास्तव, चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर, डीएफसीसीआईएल, अम्बाला।

खबरें और भी हैं...