पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सब-डिवीजन नंबर दो ने किया काम शुरू:नेशनल हाईवे के किनारे अब नहीं दिखेंगे टेढ़े-मेढ़े बिजली के पोल और लटकती तारें

अम्बाला20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कैंट में एक्सईएन ऑफिस में तारों से लदा खड़ा ट्रक। - Dainik Bhaskar
कैंट में एक्सईएन ऑफिस में तारों से लदा खड़ा ट्रक।
  • बिजली निगम के एमडी ने एसई को सौंदर्यीकरण के दिए आदेश,

नेशनल हाईवे के किनारे से गुजरते वक्त अब टेढ़े-मेढ़े बिजली के पोल और लटकती या झूलती बिजली की तारें नहीं दिखाई देंगी। उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम के एमडी ने इस संबंध में सभी अधीक्षक अभियंता (एसई) को आदेश जारी किए हैं। अब एसई अम्बाला ने अपने सभी एक्सईएन को इन्हें लागू करने के आदेश दिए हैं।

आदेश मिलने के बाद सब-डिवीजन नंबर 2 ने अम्बाला कैंट और सिटी में 220 केवी सब-स्टेशन धूलकोट तक लेबर वर्क ऑर्डर जारी करके बिजली के तार उतारने का ठेका दे दिया है। कैंट और सिटी के बीच में 66 बिजली के पोल हैं और कुछ पोल टेडे-मेडे हैं और धूलकोट से कैंट के लिए कई किलोमीटर बिजली के तार आ रहे हैं।

यूएचबीवीएन के एमडी के आदेशों के बाद जब अम्बाला में विकल्प के रूप में लाइनों को चेक किया गया तो सामने आया कि यह लाइन करीब 12 साल से इस्तेमाल नहीं हुई। इसलिए बिजली निगम ने एक ठेकेदार को लेबर का टेंडर दिया ताकि केबल्स उतारकर उसे स्टोर में रखा जा सके। अधिकारियाें का मानना है कि इस केबल को बाद में इस्तेमाल किया जा सकेगा। अभी ठेकेदार 8 पोल से बिजली के तार उतार चुका है।

आरोप- ठेकेदार ने केबल्स उतारते वक्त स्क्रैप बना दिया : लेबर के ठेकेदार ने जब काम शुरू किया तो शिवपुरी कॉलोनी निवासी अमरजीत आर्य ने इसका विरोध किया। अमरजीत ने कहा कि कैंट-वन और कैंट-2 फीडर जब से बना है तब से इस केबल पर कोई लोड नहीं डाला गया।

इसलिए यह केबल खराब नहीं है, लेकिन जिस ठेकेदार को बिजली निगम ने ठेका दिया है, उसने इस केबल को काट-काट कर स्क्रैप बना दिया। जबकि, इस केबल की टेस्टिंग हो सकती है जिससे कि यह पता चल जाएगा कि केबल पर अभी कितने एम्पियर का लोड चलाया जा सकता है। इसलिए उसने मामले की शिकायत एसई अम्बाला से की है, ताकि पूरी केबल को एक साथ उतारा जा सके।

एसई बरनवाल बोले- केबल उतारने के मामले को चेक कराया जाएगा

एसई वीके बरनवाल ने कहा कि विदेशों से घूमने के लिए आने वाले पर्यटक, वीआईपी समेत अन्य लोग हाईवे से सफर करते हैं। इसलिए यूएचबीवीएन हाईवे की ब्यूटीफिकेशन करना चाहता है। इसी के चलते काम किए जा रहे हैं। कैंट-सिटी के बीच केबल उतारने के मामले को चेक कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं...