साइबर ठगी की शिकार:25 लाख की लॉटरी जीतने का सपना दिखा 1.33 लाख रुपय ठगे

अम्बालाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लॉटरी जीतने का सपना दिखाकर गांव बरनाला की आंगनबाड़ी वर्कर कमलजीत कौर से साइबर ठगों ने 1,33,200 रुपए ठग लिए - Dainik Bhaskar
लॉटरी जीतने का सपना दिखाकर गांव बरनाला की आंगनबाड़ी वर्कर कमलजीत कौर से साइबर ठगों ने 1,33,200 रुपए ठग लिए

कौन बनेगा करोड़पति (केबीसी) में 25 लाख की लॉटरी जीतने का सपना दिखाकर गांव बरनाला की आंगनबाड़ी वर्कर कमलजीत कौर से साइबर ठगों ने 1,33,200 रुपए ठग लिए। इतने पैसे ठगों के खाते में डालने पर भी जब लॉटरी की रकम नहीं मिली तब जाकर कमलजीत को अपने साथ हुई ठगी का अहसास हुआ। पंजोखरा थाने में अज्ञात पर धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ है।

आंगनबाड़ी वर्कर कमलजीत कौर ने बताया कि 8 दिसंबर को उसे वॉट्सएप पर अज्ञात नंबर से एक संदेश आया कि उनकी केबीसी की तरफ से 25 लाख रुपए की लॉटरी लगी है। कमलजीत की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। उन्होंने तुरंत उस नंबर पर कॉल की। कॉल रिसीव करने वाले ने खुद को आईसीआईसीआई बैंक की दिल्ली चांदनी चौक शाखा का मैनेजर बताया।

क्ति ने कहा कि लॉटरी की रकम तभी मिलेगी जब बताए गए नंबर पर 18,200 रुपये गूगल-पे करेंगे। 9 दिसंबर को कमलजीत ने ये रकम दे दी। उसी दिन आरोपी ने दोबारा फोन करके एक और नंबर दिया और कहा कि यह हरियाणा सरकार का नंबर है और इस पर 35 हजार रुपए गूगल-पे करके रजिस्ट्रेशन कराना होगा। लॉटरी के सपने में जी रहीं कमलजीत ने यह रकम भी दे दी।

फिर कमलजीत को कहा गया कि वे एक वॉयस मैसेज भेजें, जिसमें कहे कि मुझे लॉटरी की 25 लाख रुपये राशि पूरी चाहिए। कमलजीत ने ये मैसेज भेजा तो उसके बाद वापस उस शख्स ने फोन कर कहा कि मैसेज गलत भेजा है। इसके बाद पीड़िता को कहा गया कि उसकी लॉटरी की राशि अदा करने के लिए बिजनेस अकाउंट बनाना पड़ेगा, जिसके लिए 80 हजार रुपये मांगे। काफी पैसे पहले ही गंवा चुकी कमलजीत ने यह रकम भी गूगल-पे के माध्यम से अदा कर दी। इसके बाद भी खाते में लॉटरी के पैसे नहीं आए तो ठगी का अहसास हुआ।

खबरें और भी हैं...