पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मरीजों को मिलेगी सुविधा:ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट शुरू होने का असर, 40 ऑक्सीजन बेड बढ़ाए, ट्रॉमा सेंटर के ऊपर बनेगी 40 बेड की कोविड यूनिट

अम्बाला सिटीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्राइवेट अस्पतालों को दी जा रही ऑक्सीजन का होगा ऑडिट

सिटी सिविल अस्पताल में शुरू हुए ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का असर दिखाई देने लगा है। प्लांट से प्रति मिनट 200 लीटर ऑक्सीजन आपूर्ति होने के बाद अस्पताल में 40 कोविड बेड और बढ़ा दिए गए हैं। अब ट्रामा सेंटर के ऊपर के हिस्से में 40 बेड की अतिरिक्त यूनिट बनाई जाएगी।

इसके अलावा सिटी व कैंट के अस्पताल में 1-1 हजार किलो के अतिरिक्त ऑक्सीजन कसंट्रेटर प्लांट शुरू किए जा रहे हैं। जिससे कैंट अस्पताल में भी ऑक्सीजन बेड क्षमता बढ़ाई जा सकेगी। अभी कैंट में लगभग 80 व सिटी में 120 कोविड मरीज एडमिट हैं। सिविल सर्जन डॉ. कुलदीप सिंह ने बताया कि कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने 300 कोविड बेड और बढ़ाने का निर्णय लिया है।

सिटी व कैंट के अस्पतालों के अलावा, नारायणगढ़ के सामान्य अस्पताल, सीएचसी मुलाना, शहजादपुर, बराड़ा व चौड़मस्तपुर में बेड बढ़ाए जाने हैं। ऑक्सीजन की आपूर्ति सामान्य होने पर इन सभी स्वास्थ्य केंद्रों में कोविड के अतिरिक्त बेड शुरू कर दिए जाएंगे।

वहीं, ऑक्सीजन की किल्लत के बीच स्वास्थ्य विभाग ने ऑक्सीजन का ऑडिट कराने का फैसला लिया है। सिविल सर्जन ने बताया कि कई प्राइवेट अस्पतालों से मरीजों की तुलना में ज्यादा ऑक्सीजन की डिमांड आ रही है। जबकि सरकारी अस्तपालों में उसी संख्या में मरीजों पर कम ऑक्सीजन लग रही है।

वैक्सीन की कोई कमी नहीं, बढ़ाए जाएंगे कैंप : सीएमओ

सिविल सर्जन डॉ. कुलदीप सिंह ने बताया कि वीरवार को विभाग को 7 हजार डोज कोविशील्ड व 3 हजार डोज कोवैक्सीन की लगी हैं। ऐसे में वैक्सीन को लेकर कोई दिक्कत नहीं है। वैक्सीनेशन को लेकर जो कैंप लगाए जा रहे हैं उनकी संख्या भी बढ़ाई जाएगी ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग टीकाकरण करा पाएं। सिविल सर्जन ने बताया कि बिना अप्वाइंटमेंट के वैक्सीन सर्टिफिकेट जारी होने की जानकारी भी मिल रही हैं लेकिन ऐसे मामलों में शरारत से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। हालांकि, जिन लोगों के साथ ऐसा हुआ है वे वैक्सीन से वंचित नहीं रहेंगे।

खबरें और भी हैं...