बेदखल बेटे ने मां के मकान पर लिया लोन:पिता ने IDFC बैंक कर्मी पर भी लगाया धोखाधड़ी का आरोप, केस दर्ज

अंबाला7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

बेदखल बेटे द्वारा फर्जी तरीके से मां के मकान पर लोन लेकर धोखाधड़ी करने मामला सामने आया है। जिला यमुनानगर के जड़ौदा गेट जगाधरी निवासी चमन लाल पुत्र जागीर गिरी ने बेदखल किए पुत्र और IDFC FIRST बैंक कर्मी के खिलाफ अंबाला रेंज की आईजी को शिकायत सौंपी है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर केस दर्ज किया है।

बैंक कर्मी से मिलीभगत करके लिया लोन

शिकायतकर्ता चमन लाल ने पुलिस को सौंपी शिकायत में बताया कि उन्होंने उनके बेटे ब्रह्मदेव कुमार को अचल संपत्ति से बेदखल कर रखा है, लेकिन IDFC बैंक अंबाला के कर्मचारी के साथ मिलीभगत करके उसके बेटे ब्रह्मदेव कुमार ने उनके 90 गज के मकान पर लोन ले लिया, जबकि यह मकान उसकी पत्नी लछमी देवी के नाम है।

किस्त नहीं भरी तो बैंक दे रहे धमकी

चमन लाल ने बताया कि बैंक ने फर्जी तरीके से उसके बेटे को लोन दिया है। उन्हें यह मालूम भी नहीं था कि उनके मकान पर लोन है। जब उनके बेदखल किए गए बेटे ने बैंक की किस्त नहीं भरी तो बैंक कर्मचारी उन्हें फोन करके तंग कर रहे हैं। मकान खाली करने की धमकी दे रहे हैं, जिसकी वजह से उन्हें काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है। आरोप लगाया कि बैंक कर्मी और उसका बेटा उक्त मकान को हड़पने की कोशिश कर रहे हैं।

SP और DC यमुनानगर को सौंपी थी शिकायत

शिकायतकर्ता ने बताया कि 11 फरवरी 2020 को उन्होंने SP यमुनानगर को शिकायत सौंपी थी। जांच में खुलासा हुआ था कि जो दस्तावेज बैंक द्वारा पेश किए गए वह फर्जी हैं, लेकिन इसके बावजूद बैंक कर्मचारी उन्हें बार-बार फोन करके परेशान कर रहे हैं। इस बारे में शिकायतकर्ता ने SP और DC यमुनानगर को दोबारा शिकायत सौंपी थी।

शिकायत इकोनॉमिक सेल यमुनानगर में भेजी गई। इसके बाद शिकायत पुलिस थाना शहर जगाधरी में भेजी गई। यहां पुलिस ने 28 अक्तूबर 2020 को FIR दर्ज की गई, लेकिन कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई।