• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Farmers Call Out Farmers Demonstrated For Three Hours At DC Office, Farmers Were Furious If DC Did Not Come To Collect Memorandum

किसानों का हल्ला बोल:DC ऑफिस पर तीन घंटे किया प्रदर्शन, ज्ञापन नहीं लेने आए उपायुक्त तो भड़के

अंबाला4 महीने पहले
डीसी ऑफिस पर धरना देते किसान।

हरियाणा के जिले अंबाला में कृषि संबंधित समस्याओं को लेकर किसानों ने डीसी ऑफिस के बाहर तीन घंटे नारेबाजी की। संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर भारतीय किसान यूनियन शहीद भगत सिंह के बैनर तले डीसी कार्यालय पर किसान इकट्‌ठे हुए। यहां सरकार की नीतियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

डीसी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते किसान।
डीसी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते किसान।

डीसी ज्ञापन नहीं आए तो भड़के किसान

धरना प्रदर्शन कर रहे किसान डीसी विक्रम सिंह को ज्ञापन देने पहुंचे। डीसी ने मीटिंग की बात कहकर ज्ञापन लेने में असमर्थता जताई। इस बात से किसान भड़क गए। डीसी ऑफिस के बाहर बैठ डीसी और अंबाला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। किसानों ने नारेबाजी करते हुए डीसी ऑफिस पर अनिश्चितकालीन धरना देने की चेतावनी दी। बढ़ते विरोध के बीच डीसी विक्रम सिंह ज्ञापन लेने पहुंचे। यहां BKU शहीद भगत सिंह के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमरजीत सिंह की अगुवाई में किसानों ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। इस दौरान डीसी ने किसानों को उनका ज्ञापन सरकार तक पहुंचाने का आश्वासन दिया।

डीसी विक्रम सिंह को ज्ञापन सौंपते किसान।
डीसी विक्रम सिंह को ज्ञापन सौंपते किसान।

इन मांगों के समर्थन में किसानों ने की नारेबाजी

गेहूं का उत्पादन होने पर किसानों को मुआवजा देने, बिजाई के दौरान बिजली सप्लाई, ट्यूबवेल कनेक्शन जारी करने, खेतों में लगाए जा रहे बिजली लाइन के टावरों का उचित मुआवजा, किसान आंदोलन में किसानों पर दर्ज हुए मुकदमे रद्द करने, शहीद किसानों के परिजनों को आर्थिक सहयोग देने, फसल खराब होने पर किसानों को मुआवजा, शुगर मिल में किसानों का अटके करोड़ों रुपये जारी कराने, भूमि अधिग्रहण कानून संशोधन को रद्द करने, सेना की भर्ती कराने तथा उम्र में छूट देने, बर्खास्त आंगनबाड़ी वर्कर्स की बहाली तथा सूरजमुखी का घटिया बीज बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इस मौके पर हरियाणा के उपप्रधान विक्रम राणा, जिला प्रधान गुरमीत सिंह, जय सिंह जलबेहड़ा, बलकार सिंह, मंजीत सिंह व सुखविंदर सिंह सहित भारी संख्या में किसान मौजूद रहे।