पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

30 मिनट से ज्यादा ट्रैफिक हुआ प्रभावित:अम्बाला-शंभू बाॅर्डर से कारों में दिल्ली रवाना हुए किसान, लंबे काफिले से जीटी रोड पर लगा जाम

अम्बाला सिटी5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी के शंभू बाॅर्डर से किसान कारों से दिल्ली के लिए रवाना हुए तो हाईवे पर दोनों तरफ लंबा जाम लगने से वाहन चालक गर्मी में परेशान हुए। - Dainik Bhaskar
सिटी के शंभू बाॅर्डर से किसान कारों से दिल्ली के लिए रवाना हुए तो हाईवे पर दोनों तरफ लंबा जाम लगने से वाहन चालक गर्मी में परेशान हुए।
  • भाकियू प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम चढ़ूनी के नेतृत्व में किसान रवाना

रविवार सुबह अम्बाला-शंभू बाॅर्डर से हजाराें किसानाें का काफिला काराें में सवार हाेकर दिल्ली के लिए रवाना हुआ। किसान भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी के नेतृत्व में बाॅर्डर पर एकत्रित हुए। पहले चढ़ूनी ने धरनास्थल पर किसानाें काे संबाेधित किया। काराें का काफिला ज्यादा हाेने से सड़क के दाेनाें तरफ जाम लग गया।

लाेगाें काे सड़क से निकलने में परेशानी झेलनी पड़ी। 30 मिनट से ज्यादा समय तक दाेनाें तरफ जाम के कारण ट्रैफिक प्रभावित हुआ। वहीं, दिल्ली के लिए रवाना हाेने के दाैरान चढ़ूनी देवी नगर तक ताे किसानाें के साथ पैदल चले। इसके बाद वह ओपन जिप्सी में बैठकर दिल्ली की ओर निकले। उनके साथ जिला प्रधान मलकीत सिंह, अमरजीत माेहड़ी भी माैजूद रहे। उनके पीछे 1 किलाेमीटर से ज्यादा दूरी तक काराें का काफिला दिख रहा था। लाेगाें ने कई जगह दिल्ली जाने वाले किसानाें का फूलाें से स्वागत किया।

गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने कहा कि किसानाें में 6 महीने पहले जाे जाेश था, आज भी वही जाेश है। अगर देश के सभी किसान सड़क पर धरने पर बैठ गए ताे सरकार पर वक्त डाल देंगे। अब गांव से छाेटा वर्कर भी सड़क पर सरकार के खिलाफ अा गया है। सरकार अपनी मनमानी छाेड़ कृषि कानूनाें काे वापस ले।

शनिवार काे किसानाें ने गृहमंत्री अनिल विज व सिटी विधायक असीम गाेयल के निवास स्थान के बाहर प्रदर्शन कर कृषि कानूनाें की प्रतियां फूंकी थी। रविवार काे किसान दिल्ली के लिए रवाना हुए। किसान अम्बाला-शंभू बाॅर्डर पर 25 दिसंबर 2020 से लगातार बैठे हैं। इससे पहले किसान ट्राॅली-ट्रैक्टराें से भारी संख्या में दिल्ली के लिए रवाना हुए थे। अब काराें में दिल्ली की तरफ कूच किया।

खबरें और भी हैं...