कोरोना संक्रमण:पांच और मौतें, पहली लहर में सितंबर में 59 मौत हुई थी, अप्रैल के 28 दिन में 60

अम्बाला सिटी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी के रामबाग में काेराेना संक्रमित का संस्कार करते नगर निगम कर्मी। - Dainik Bhaskar
सिटी के रामबाग में काेराेना संक्रमित का संस्कार करते नगर निगम कर्मी।
  • अप्रैल में अब तक 50 हजार से ज्यादा टेस्ट हुए, 11.50 प्रतिशत संक्रमण दर से 5859 केस मिले

कोरोना से बुधवार को कैंट के दो लोगों समेत 5 लोगों ने जान गंवाई। कैंट का रहने वाला 38 वर्षीय युवक ऑक्सीजन सपोर्ट पर था। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक इस युवक को शुगर की बीमारी थी। ट्रिब्यून कॉलोनी के रहने वाले 73 वर्षीय व्यक्ति ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे। उन्हें शुगर व दिल की बीमारी थी। तीसरी मौत कैंट के 62 वर्षीय व्यक्ति की हुई। उन्हें शुगर थी। नारायणगढ़ के रहने वाली 50 वर्षीय महिला शुगर व हाईपरटेंशन की बीमारी से ग्रस्ति थीं।

वहीं, पांचवीं मौत बीहटा की रहने वाली 42 वर्षीय महिला की हुई। इस मरीज को भी हाईपरटेंशन थी और ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया था। वैसे, कैंट के रामबाग में बुधवार को 14 संस्कार हुए, इनमें से 6 कोविडो प्रोटोकॉल के तहत थे। वहीं सिटी में कोविड प्रोटोकॉल के तहत 3 संस्कार हुए। मुलाना के एमएम कोविड सेंटर में दो मरीजों ने दम तोड़ा है। सरकारी रिकॉर्ड के मुताबिक अप्रैल के 28 दिनों में 60 मरीज जान गंवा चुके हैं। जबकि पहली लहर में सितंबर 2020 में जब पीक आई थी, तब उस माह में 59 मौत दर्ज हुई थी।

पहले पीक यानी सिंतबर में 4,068 केस मिले थे जबकि अप्रैल के 28 दिनों में 5,859 मरीज मिल चुके हैं। अप्रैल माह के ये केस अक्टूबर 2020 से फरवरी 2021 तक पांच महीनों में मिले केसों से भी 735 ज्यादा हैं। अप्रैल में 50,917 टेस्ट हुए हैं जो पिछले पीक में हुए टेस्ट 32,941 से डेढ़ गुना हैं। इससे पहले सबसे ज्यादा 38,818 टेस्ट दिसंबर 2020 में हुए थे ।

निर्धारित दरों से ज्यादा बेड चार्ज नहीं वसूल सकते अस्पताल | विभाग के मुताबिक नॉन एनएबीएच (नेशनल एक्रीडेशन बोर्ड फॉर हॉस्पटिल्स) के स्टैंडर्ड पर बने आइसोलेशन बेड व ऑक्सीजन के साथ सपोर्टिव केयर देने वाले अस्पतालों में प्रतिदिन 8 हजार रुपए तय किया हुआ है। वहीं, एनएबीएच के स्टैंडर्ड वाले हॉस्पिटल के लिए यह दर 10 हजार रुपए प्रतिदिन है। नॉन एनएबीएच आईसीयू वाले अस्पताल प्रतिदिन मरीज से 13 हजार रुपए व वेंटीलेटर सुविधा के साथ अधिकतम 15 हजार रुपए वसूल सकते हैं।

कैंट रामबाग में कोविड प्रोटोकॉल से हुए 6 संस्कार

1. निशात सिनेमा के सामने ईदगाह निवासी सुभाष चंद्र का। 2. हाउसिंग बाेर्ड निवासी 70 साल के दिनेश कुमार बंसल का। 3. लाल कुर्ती निवासी 38 साल के गाैरव कुमार का। 4. ट्रिब्यून कॉलोनी के 73 साल के अविनाश चंद्र गुप्ता का। 5. शैलेंद्र कुमार मुखर्जी का। 6. रोहतक के लाखन माजरी के 58 वर्षीय व्यक्ति का।

अम्बाला सिटी के रामबाग गाेबिंदपुरी में कोविड प्रोटोकॉल में 3 संस्कार

1. सेक्टर-9 निवासी 62 साल के जयभगवान का। 2. चरखी माेहल्ला के 80 साल के रामपोर का। 3. दिल्ली पटेल नगर के 38 साल के नीरज का।

लगातार 5वें दिन पॉजिटिव केसों का तिहरा शतक

लगातार पांचवें दिन यानी बुधवार को कोरोना केसों ने तिहरा शतक जमाया। बुधवार को 350 नए केस मिले। जिनमें से 130 केस सिटी, 70 केस कैंट, 74 केस चौड मस्तपुर सीएचसी में मिले। शहजादपुर से 27, मुलाना से 26, बराड़ा से 18 व नारायणगढ़ से 5 मरीज मिले हैं।

अब जिले में कुल 3,030 एक्टिव मरीज हो गए हैं । विभाग के मुताबिक अब तक जिले में कुल 19,954 मरीज मिल चुके हैं। बुधवार को 204 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज भी कर दिया गया।

गृह मंत्री के मीडिया कोऑर्डिनेटर दूसरी बार पॉजिटिव

गृह मंत्री विज के मीडिया कोऑर्डिनेटर विजेंद्र चौहान दूसरी बार कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। बुधवार को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। विजेंद्र चौहान कोरोना वैक्सीन लगवा चुके थे। बीते 3-4 दिनों से उनकी तबीयत ठीक नहीं थी एवं उन्हें हल्का बुखार था।

इसी को देखते हुए उन्होंने स्वयं को घर में क्वारेंटाइन कर लिया था। गत दिनों उन्होंने सिविल अस्पताल में अपना टेस्ट करवाया जिसमें वह पॉजिटिव पाए गए हैं। बीते वर्ष अगस्त माह में भी वह पॉजिटिव हो गए थे। करीब 9 महीनों में उन्हें दूसरी बार कोरोना हुआ है।

खबरें और भी हैं...