• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Fraud Of 2.25 Lakh In The Name Of Sending Abroad There Was Talk Of Sending Two Brothers To Singapore, Case Registered

अंबाला में सवा 2 लाख की धोखाधड़ी:2 भाइयों को सिंगापुर भेजने का झांसा देकर हड़पे पैसे, फेसबुक पर ऑफिस दिखाकर ललचाया

अंबाला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के अंबाला जिले में विदेश भेजने के नाम पर दो भाइयों के साथ सवा 2 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। सेक्टर-10 निवासी राजीव तुकनायत पुत्र सुरेंद्र पाल ने खुद के साथ हुई धोखाधड़ी के बाद थाना अंबाला सिटी पुलिस को शिकायत सौंपी है। पुलिस ने महिला एजेंट समेत 6 के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है।

दोनों भाइयों की जिद्द पर सहमत हुए थे पिता

राजीव तुकनायत ने बताया कि उसका बड़ा भाई दिनेश कुमार और वह दोनों वर्क परमिट पर सिंगापुर जाना चाहते थे। दोनों भाइयों की जिद्द करने पर उसके पिता सुरेंद्र पाल सहमत हुए थे और रिश्तेदारों से पैसे लेकर विदेश जाने की तैयारी की थी।

फेसबुक पर ऑफिस देखा, पिता संग बात करने आए थे

राजीव ने बताया कि उन्होंने फेसबुक पर जगाधरी गेट स्थित इजी टू इमिग्रेट कंसल्टेंसी का ऑफिस देखा था। 9 अप्रैल को वे दोनों भाई पिता सुरेंद्र पाल को लेकर उक्त ऑफिस में गए थे। यहां धर्मबीर शर्मा, विजय शर्मा, रोहित शर्मा, मनदीप, बिट्टू व शिवानी मिले। बातचीत करने पर इन्होंने आश्वासन दिया था कि वह वर्क वीजा पर दोनों भाइयों को सिंगापुर भेज देंगे।

दोनों भाइयों से मांगे थे 2 लाख 40 हजार रुपए

शिकायतकर्ता ने बताया कि आरोपियों ने दोनों भाइयों से 2 लाख 40 हजार रुपए मांगे थे। एजेंट ने दोनों भाइयों को मेडिकल कराने के लिए कुरुक्षेत्र स्थित इंडो अमेरिकन हेल्थ केयर सेंटर में भेज दिया। यहां 12 अप्रैल को दोनों भाइयों ने मेडिकल कराया। 15 अप्रैल को आरोपियों ने कहा कि उनका ऑफर लेटर मंगवाना है, जिसकी 5-5 हजार रुपए फीस लगेगी। उन्होंने 10 हजार रुपए एजेंट को दे दिए। आरोपियों ने दोनों भाइयों के पासपोर्ट रखकर ऑफर लेटर के बदले रसीद दे दी थी, जिस पर धर्मबीर ने अपने हस्ताक्षर किए थे।

वीजा आने की बात कह वसूले 2 लाख 15 हजार

राजीव ने बताया कि एजेंट धर्मबीर और शिवानी ने उनके पास कई बार फोन किए। कहा था कि उनका वर्क वीजा आ गया है, लेकिन सारी पेमेंट जमा करानी होगी। 7 मई को उन्होंने 1 लाख रुपए नकद धर्मबीर शर्मा, शिवानी व विजय शर्मा को दिए। इसके बाद 9 मई को 1 लाख 15 हजार रुपए फिर दिए।

इस दौरान शिवानी ने अपने ऑफिस के लेटर पेड पर 2 लाख 15 हजार रुपए प्राप्त करने पर हस्ताक्षर करके रसीद भी दी। साथ ही पासपोर्ट व सिंगापुर का वीजा दिया, लेकिन जब टिकट देने की बात आई तो आरोपियों ने अपना ऑफिस बंद कर लिया। वे बार-बार चक्कर काटते रहे। दुकान मालिक संदीप सिंह मिला, जिसे सारी बात बताई तो धोखा होने का पता चला।

पुलिस ने इनके खिलाफ किया केस दर्ज

पुलिस ने शिकायत के आधार पर एजेंट धर्मबीर, शिवानी, विजय शर्मा, रोहित शर्मा, मनदीप और बिट्टू के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

खबरें और भी हैं...