• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Gurnam Singh Chadhuni Will Be The Chief Guest, Save The Country, Save The Constitution, Conference Will Be Held In Ambala City Sector 8 Community Center

अंबाला में किसान सम्मेलन:ट्रैक्टर चलाकर पहुंचे गुरनाम चढूनी का स्वागत, बोले कि MSP और शहीद किसानों को मुआवजा देने तक चलेगा आंदोलन

अंबाला5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय किसान यूनियन अंबाला शहर के सेक्टर-8 सामुदायिक केंद्र में 'देश बचाओ संविधान बचाओ, किसान मजदूर बचाओ' सम्मेलन ने किसानों में एक बार फिर जोश भर दिया। भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी दोपहर 1 बजे कार्यक्रम स्थल पर खुद ट्रैक्टर चलाकर पहुंचे। भारी संख्या में किसानों ने चढूनी का ढोल व फूल मालाओं से भव्य स्वागत किया।

चढूनी ने कहा कि जब तक सरकार एसएसपी व शहीद हुए किसानों के परिवारों को मुआवजा आदि मांगों को पूरा नहीं करती है, तब तक उनका आंदोलन चलता रहेगा। वह पंजाब चुनाव को लेकर बोले कि मिशन पंजाब 2022 जारी है। पंजाब की सभी सीटों पर चुनाव लड़कर एक मॉडल पेश किया जाएगा। साथ ही कहा कि वह खुद का राजनीतिक दल बनाकर चुनाव लड़ेंगे। हरियाणा चुनाव को लेकर भी कहा कि अभी हरियाणा में चुनाव नहीं है। जब होंगे तो विचार किया जाएगा। अभी हमारा फोकस पंजाब पर है। किसान मजदूर नेता कांता आलड़िया ने कहा कि पंजाब से जब राजनीतिक दल चलेगा तो पूरे देश में फैलेगा।करीब 4 बजे तक कार्यक्रम चला। लौटने समय चढ़ूनी ने किसानों को आंदोलन में ज्यादा से ज्यादा हिस्सा बनने के कहा।

अंबाला पहुंचने पर हुआ गुरनाम सिंह चढूनी का स्वागत
अंबाला पहुंचने पर हुआ गुरनाम सिंह चढूनी का स्वागत

एक मिनट का मौन रखकर शहीद किसानों को दी श्रद्धांजलि

आंदोलन के चलते बॉर्डर पर शहीद हुए करीब 700 किसानों की आत्मा शांति के लिए 1 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी। वहीं, सम्मेलन की शुरूआत में बाबा भीमराव अम्बेडकर सहित सर छोटू राम की प्रतिमा पर दीप प्रज्जवलित भी किए। चढ़ूनी ने कहा कि किसान आपसी भाईचारा बनाने के लिए अपने घर में बाबा भीमराव अम्बेडकर की फोटो लगाएं और मजदूर अपने घरों में सर छोटू राम की। किसान मजदूरों को छोटा भाई और मजदूर किसानों को बड़ा भाई मानते हुए आगे बढ़े।

सम्मेलन में दीप प्रज्जवलित करते हुए गुरनाम सिंह चढ़ूनी व अन्य
सम्मेलन में दीप प्रज्जवलित करते हुए गुरनाम सिंह चढ़ूनी व अन्य

बता दें कि भारतीय किसान यूनियन के जिला प्रधान मलकीत सिंह ने एक सप्ताह पहले ही किसानों से मिलकर उन्हें सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए निमंत्रण देना शुरू कर दिया था। ज्यादा से ज्यादा किसानों से शामिल होने की बात कही थी।

सम्मेलन में शामिल किसान
सम्मेलन में शामिल किसान

शंभू बॉर्डर पर बढ़ रही किसानों की संख्या

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद अंबाला के शंभू बॉर्डर पर किसानों की संख्या बढ़ रही है। एक बार फिर अधिक संख्या में आंदोलन के दौरान अपनी भागीदारी निभा रहे हैं। किसानों का कहना है कि महज घोषणा करने से नहीं बल्कि आंदोलन को पूरी तरह से वापस लेने के बाद ही आंदोलन समाप्त होगा। जिलाध्यक्ष मलकीत सिंह ने कहा कि यह लड़ाई समस्त किसानों की है। दिल्ली में बैठे किसान नेता जो भी निर्णय लेंगे उसी पर अमल किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...