स्ट्रीट लाइट्स का टेंडर:सिटी में सेक्टरों की 5% से ज्यादा स्ट्रीट लाइटें खराब मिली ताे एजेंसी को जुर्माना हाेगा

अम्बालाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्ट्रीट लाइट्स का टेंडर निकाला - Dainik Bhaskar
स्ट्रीट लाइट्स का टेंडर निकाला

हुडा सेक्टर्स में मेन रोड पर लगी स्ट्रीट लाइट्स में से अगर 5 प्रतिशत से ज्यादा खराब हुई तो एजेंसी को जुर्माना लगेगा। नगर निगम ने सेक्टर-1, 7, 8, 9 तथा 10 के लिए स्ट्रीट लाइट्स का टेंडर निकाला है। इस बार मेन रोड पर ज्यादा जोर दिया गया है ताकि मेन सड़कों पर अंधेरा न पसरे।

असल में अभी तक सेक्टर्स की स्ट्रीट लाइट्स को लेकर वहां की एसोसिएशन ने निगम में कई बार शिकायतें दे चुकी हैं। फिर भी सेक्टर्स के मेन रोड के अलावा गलियों में भी कई स्थानों पर स्ट्रीट लाइट्स खराब रहती हैं। इसलिए निगम ने इस बार एहतियात बरतते हुए कुछ सख्त नियम बनाए हैं ताकि एजेंसी उस पर काम करे। एजेंसी को स्ट्रीट लाइट्स ठीक करने के लिए सुपरवाइजर के साथ तीन सदस्यीय टीम का गठन भी करना पड़ेगा। ताकि जो शिकायत मैन्युअल या फिर पोर्टल से आए। उसे जल्द ही ठीक किया जा सके। निगम ने इस बार स्ट्रीट लाइट 72 घंटे के नियम को हटा दिया है।

अम्बाला. हुडा सेक्टर्स में मेन रोड पर लगी स्ट्रीट लाइट्स में से अगर 5 प्रतिशत से ज्यादा खराब हुई तो एजेंसी को जुर्माना लगेगा। नगर निगम ने सेक्टर-1, 7, 8, 9 तथा 10 के लिए स्ट्रीट लाइट्स का टेंडर निकाला है। इस बार मेन रोड पर ज्यादा जोर दिया गया है ताकि मेन सड़कों पर अंधेरा न पसरे।

असल में अभी तक सेक्टर्स की स्ट्रीट लाइट्स को लेकर वहां की एसोसिएशन ने निगम में कई बार शिकायतें दे चुकी हैं। फिर भी सेक्टर्स के मेन रोड के अलावा गलियों में भी कई स्थानों पर स्ट्रीट लाइट्स खराब रहती हैं। इसलिए निगम ने इस बार एहतियात बरतते हुए कुछ सख्त नियम बनाए हैं ताकि एजेंसी उस पर काम करे।

एजेंसी को स्ट्रीट लाइट्स ठीक करने के लिए सुपरवाइजर के साथ तीन सदस्यीय टीम का गठन भी करना पड़ेगा। ताकि जो शिकायत मैन्युअल या फिर पोर्टल से आए। उसे जल्द ही ठीक किया जा सके। निगम ने इस बार स्ट्रीट लाइट 72 घंटे के नियम को हटा दिया है।

इतना जुर्माना लगेगा:

स्ट्रीट लाइट हर समय वर्किंग कंडीशन में होनी चाहिए। अगर पांच प्रतिशत लाइटें खराब रहेंगी तो एजेंसी को कोई जुर्माना नहीं होगा। अगर पांच से दस प्रतिशत लाइटें खराब होती हैं तो 50 रुपए प्रति पाॅइंट के हिसाब से जुर्माना लगेगा। 10 से 20 प्रतिशत लाइटें बंद रहने पर 100 रुपए प्रति प्वाइंट के हिसाब से जुर्माना लगेगा।

अगर 20 से 40 प्रतिशत स्ट्रीट लाइटें खराब होती है तो 150 रुपए प्रति प्वाइंट जुर्माने का प्रावधान किया गया है। इससे ज्यादा स्ट्रीट लाइट खराब होने पर एजेंसी को एक सप्ताह का नोटिस देने के बाद उसका वर्क ऑर्डर वापस ले लिया जाएगा। गर्मियों में शाम को 7 से 7:45 बजे तक लाइट ऑन करनी होंगी, जबकि सुबह 5 से 5:45 बजे तक इन्हें बंद करना होगा। सर्दियों में शाम को 5:30 बजे से 6:15 के बीच लाइट आन करनी होगी, जबकि सुबह 6 से 6:45 बजे तक इन्हें बंद करना होगा।

सेक्टर्स में 3027 स्ट्रीट लाइट्स प्वाइंट :

पांचों सेक्टर्स में नगर निगम के 3027 स्ट्रीट लाइट्स के प्वाइंट हैं। इनमें से ट्यूब लाइट 1307 हैं। 150 वाॅट सोडियम एचपीएसवी प्वाइंट 1375 हैं। 250 वाट सोडियम एचपीएसवी फिटिंग 161, हाई मास्ट लाइट्स 250 वाट की 159 प्वाइंट हैं। एलईडी स्ट्रीट लाइट 25 से 50 वाट के 21 प्वाइंट, एलईडी स्ट्रीट लाइट 60 से 110 वाट 186 प्वाइंट हैं। एलईडी स्ट्रीट लाइट 72 से 172 वाट के 10 प्वाइंट हैं।

ये हैं सेक्टर की मुख्य सड़कें जहां ज्यादा स्ट्रीट लाइटें

सेक्टर्स में जो मुख्य हैं, उनमें सेक्टर एक में मेन मार्केट, राधा कृष्ण मंदिर से मेन मार्केट, सेक्टर की मेन एंट्री से जेल लैंड तक। सेक्टर 7 में ग्लैक्सी माल से मेन मार्केट, पीर से मेन मार्केट रोड तक, पुलिस चौकी से मेन मार्केट तक। सेक्टर-8 में 8 व 9 के डिवाइडिंग रोड, न्यू अनाज मंडी से सेक्टर-8 व 9 के डिवाइडिंग रोड तक। सेक्टर-9 में सेक्टर-8 व 9 के डिवाइडिंग रोड से ओपीएस स्कूल रोड, मेन मार्केट रोड, सेक्टर-9 व 10 के डिवाइडिंग रोड तक। सेक्टर 10 में शहीद उधम सिंह चौक से दीन दयाल उपाध्याय चौक, मेन एंट्री रोड से कम्युनिटी सेंटर तक।

खबरें और भी हैं...