• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Intermittent Rain Throughout The Night, Waterlogging In The Lower Colonies, The Corporation Removed Water From The Pump At 2 O'clock In The Night

अंबाला में 35MM बरसे बदरा:रातभर से रूक-रूक हो रही बारिश, कई जगहों पर जलभराव और फिसलन, निगम ने पंप से निकाला पानी

अंबाला7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अंबाला शहर के नदी मोहल्ला से रात करीब 2 बजे नगर निगम की टीम पानी निकालती हुई - Dainik Bhaskar
अंबाला शहर के नदी मोहल्ला से रात करीब 2 बजे नगर निगम की टीम पानी निकालती हुई

हरियाणा के अंबाला में पिछले 18 घंटों से बरसात जारी है। जिला में अभी तक 35 MM बारिश हो चुकी है। रात को हुई बरसात से कॉलोनियों में जलभराव की स्थिति बन गई थी। सड़कें पानी से लबालब भरी हुई थी। अंबाला शहर के नदी मोहल्ला, नई बस्ती, कपड़ा मार्केट वार्ड नंबर 10 में पानी भरा देखकर लोगों ने नगर निगम में शिकायत की। निगम कमिश्नर धीरेंद्र खड़गटा ने देर रात करीब 2 बजे ही अपनी टीम भेजकर पंप व जनरेटर की मदद से पानी निकलवाया। लगातार बरसात होने तक पंप भी लगा दिए गए हैं, ताकि जलभराव की स्थिति न बन सके। बता दें कि जनवरी माह में अब तक अंबाला में 70 एमएम बरसात हो चुकी है।

अंबाला कैंट दयाल बाग रोड पर रात को सड़क पर जमा पानी से गुजरती हुई कार
अंबाला कैंट दयाल बाग रोड पर रात को सड़क पर जमा पानी से गुजरती हुई कार

पश्चिमी विक्षोभ के कारण इन कॉलोनियों में बिगड़े हालात

मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ के कारण लगातार बरसात हो रही है। अंबाला कैंट के बीडी फ्लोर मिल के पीछे कॉलोनियों सहित दयाल बाग रोड, लुधियाना स्वीट्स वाली रोड, अशोक नगर, बीसी बाजार में नालियां पूरी तरह से ओवरफ्लो होने के कारण जलभराव हो गया। लगातार हो रही बारिश से जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया। मौसम विभाग के मुताबिक 10 जनवरी से मौसम साफ होने की संभावना है। धूप भी खिल सकती है। अधिकतर तापमान 18.2 और न्यूनतम तापमान 11.8 तक पहुंच गया है।

अंबाला कैंट के पैरी होटल की सड़क पर बरसात के बाद कीचड़ से लोग परेशान
अंबाला कैंट के पैरी होटल की सड़क पर बरसात के बाद कीचड़ से लोग परेशान

झमाझम बारिश ने बढ़ाई किसानों की टेंशन

झमाझम बारिश के कारण किसान परेशान हो गए हैं। किसानों के मुताबिक ज्यादा तेज बरसात गेंहू के साथ-साथ सब्जियों की फसल के लिए भी नुकसानदायक है। जिन किसानों ने आलू, गोभी, धनिया, गाजर, मूली आदि फसलें बोई हुई है वो परेशान होने लगे हैं। कृषि विज्ञान केंद्र तेपला के कृषि विशेषज्ञ डॉ. राजेंद्र सिंह ने कहा कि जिन खेतों में पानी जमा है उन्हें निकालने का प्रयास करें। जितनी देर तक पानी जमा रहेगा उतना ही नुकसान होगा।