स्ट्रॉम वाटर प्रोजेक्ट:हनुमान मार्केट में 5 की बजाए 11 पाइप डाल बनाया जा रहा था मैनहाेल, विरोध

अम्बाला3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हनुमान मार्केट में मैनहोल से पानी निकलवाने के बाद कीचड़ निकलने पर सफाई देते हुए लेबर मिस्त्री। - Dainik Bhaskar
हनुमान मार्केट में मैनहोल से पानी निकलवाने के बाद कीचड़ निकलने पर सफाई देते हुए लेबर मिस्त्री।

ठेकेदार बोला- विभाग के कहने पर 11 पाइप डालने के बाद बनाया मैनहाेल, मैनहाेल का तल चेक कराया तो निकला कीचड़ कैंट में 23 करोड़ रुपए से चल रहे स्ट्रॉम वाटर प्रोजेक्ट में अनियमितताएं बरतने का आरोप लगा हनुमान मार्केट के दुकानदारों ने रविवार को एकजुट हाेकर विरोध जताया। दुकानदारों ने बताया कि शनिवार रात अर्थमूविंग मशीन से खुदाई कर दुकानों के सामने पानी निकासी के लिए पाइप डाले गए। ड्राइंग के मुताबिक काम नहीं किया जा रहा। हलवाई बाजार में जहां मैनहाेल बनाए हैं वो 5 पाइप डालने के बाद बनाए हैं। जब ये काम राजा राम

हलवाई चौक से हनुमान मार्केट में पहुंचा तो मैनहाेल 5 की बजाय 11 पाइप डालने के बाद बनाया गया। मैनहाेल का पलस्तर पानी के बीच में ही कर दिया और इसका बेस कीचड़ हो गया। विरोध के चलते ठेकेदार की लेबर ने मैनहाेल के दोनों तरफ के पानी को कट्टे लगाकर बंद किया और फिर पलस्तर करना शुरू किया। लोगों ने आरोप लगाया कि मैनहाेल का बेस पक्का नहीं है बल्कि कीचड़ हो गया है। दुकानदारों के आरोपों के बाद जब सुपरवाइजर ने मैनहाेल को सही बताया तो दुकानदारों ने चेक कराने की बात कही।

इसके बाद मैनहाेल का पानी निकलवाकर उसे चेक कराया तो मैनहाेल के तल में बजरी, रेत व सीमेंट के मिश्रण की बजाए कीचड़ निकला। सुपरवाइजर ने कहा कि वह उसे ठीक करा देंगे। दुकानदारों ने सुपरवाइजर से कहा कि पीछे भी जो मैनहाेल बनाए हैं उनके तल भी कीचड़ का रूप ले चुके हैं। जब दुकानदारों ने सुपरवाइजर को मैनहाेल से पानी निकालकर उसे चेक कराना चाहा तो सुपरवाइजर मौके से चले गए। दुकानदारों ने आशंका जताई कि कुछ समय के बाद मैनहाेल के पानी का साइड में रिसाव शुरू हो जाएगा और दिक्कत होगी। मैनहाेल में कई जगह दरारें आ गई हैं तो वहीं कुछ जगह पर लगाई ईंटें उखड़ गई हैं।

उधर, सुपरवाइजर ने दुकानदारों से कहा कि मैनहाेल में उन्होंने पूरा माल डाला है। पानी की वजह से सीमेंट निकल गया है तो वह इसमें कुछ नहीं कर सकते। लोग व दुकानदार अपने घर या दुकान के पानी को नहीं रोक रहे हैं। इसलिए पानी में ही उन्हें काम करना पड़ रहा है। सुपरवाइजर ने कहा कि अभी उनका काम चल रहा है। यदि कोई दरार या मैनहाेल की ईंटें उखड़ेंगी तो उसे दुरुस्त करा दिया जाएगा।

पानी के बीच मैनहोल का बेस तैयार किया, पानी निकाला तो सीमेंट गायब होकर कीचड़ बन गया

बृज कंस्ट्रक्शन कंपनी के प्रतिनिधि रितेश कंसल से सीधी बात

  • हनुमान मार्केट में 11 पाइप के बाद जो मैनहाेल बनाया जा रहा है, क्या आपने अपनी लेबर से कहकर बनवाया है?
  • मुझे तो विभाग का आदेश मिला था, इसके बाद ये काम हुआ है।
  • विभाग (नगर परिषद) के किस अधिकारी ने यह आदेश दिए थे?
  • मुझे तो किसी ने साइट कंडीशन देखकर ही बताया होगा। इसलिए मैंने काम कराया है।
  • किस जेई, एक्सईएन, एमई या प्रशासक ने आपको आदेश दिए हैं।
  • मैं पता कराकर बताता हूं कि किसके कहने पर डाला गया है। मेरे पास लोकल रेजिडेंशियल लोगों के भी फोन आए थे।
  • क्या ड्राइंग के मुताबिक काम किया जा रहा है या फिर किसी के कहने पर इस तरह से पाइप डाल रहे हैं?
  • हम अपना काम ड्राइंग के मुताबिक करते हैं। मैं इस मामले में पता करता हूं।

नगर परिषद के एमई प्रीतपाल से सीधी बात

. कंस्ट्रक्शन कंपनी के प्रतिनिधि का कहना है कि विभाग के कहने पर उन्हाेंने 11 पाइप के बाद मैनहाेल बनाया है, तो क्या विभाग ने ऐसा बोला है? एजेंसी को सख्त आदेश दिए गए हैं कि वो ड्राइंग के मुताबिक अपना काम करे। पहले भी ऐसा काम होता रहा है। ड्राइंग के मुताबिक ही काम होगा। . मैनहाेल बनाने के साथ ही उसमें पानी जमा हो गया है, इसलिए मैनहाेल के तल में कीचड़ बन चुका है?

लोगों व दुकानदारों काे पानी को रोकना चाहिए। पानी से सीमेंट नहीं निकलता है। हम मैनहाेल का बेस चेक करेंगे। ऐसा नहीं है कि उन्होंने काम पूरा कर दिया है और बिल ऐसे ही पास कर दिया जाएगा। नियम के मुताबिक उसे चेक किया जाएगा और यदि नियम के मुताबिक सही नहीं पाएगा तो उस पर कार्रवाई करेंगे। मुझे हनुमान मार्केट में जो दिक्कत लगी है वो यह है कि कोई दुकानदार नहीं चाहता कि उसकी दुकान के आगे मैनहाेल बने।

खबरें और भी हैं...