टाेल टैक्स की सभी लेन चलू:354 दिन के लंगर में मरदों साहिब गुरुद्वारे ने पौने 2 करोड़ रुपए खर्चे

अम्बालाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शंभू बाॅर्डर पर अपना सामान लेकर जाते किसान व लौटने से पहले भंगड़ा डालते किसान। - Dainik Bhaskar
शंभू बाॅर्डर पर अपना सामान लेकर जाते किसान व लौटने से पहले भंगड़ा डालते किसान।
  • 25 दिसंबर 2020 से चल रहा था धरना व लंगर, अखंड पाठ के भोग के साथ किसानों ने समापन किया

25 दिसंबर से पंजाब बॉर्डर के शंभु टोल प्लाजा पर चल रहा किसानों का धरना मंगलवार को खत्म हो गया। यहां अखंड पाठ रखा गया था, जिसका भोग डालकर धरना समाप्त कर दिया गया। अांदाेलन के दौरान सेवा करने वालों को सिरोपा देकर सम्मानित किया गया। यहां धरने के साथ ही लंगर सेवा भी शुरू हो गई थी। इसमें अकेले मरदों साहिब गुरुद्वारे की तरफ से करीब 1.70 करोड़ रुपए खर्च किए गए। इसके अलावा कई अन्य गुरुद्वारों व ग्रामीणों ने भी सेवा दी।
धरना समाप्ति पर गुरुद्वारा मरदो साहिब के प्रधान जरनैल सिंह व मैनेजर प्रीतपाल सिंह काे सेवा के लिए सम्मानित किया गया। धरने में इस्तेमाल दरियां, लाउड स्पीकर, गद्दे और लंगर सेवा के लिए लगा शेड गुरुद्वारा मरदों साहिब को दिया गया है। सामान समेटने के बाद किसानों ढोल की थाप पर जश्न मनाया। शाम के समय किसानों का सामान उठने के बाद टाेल प्लाजा संचालकों ने अर्थ मूविंग मशीन व कर्मचारियों काे साफ सफाई के लिए लगा दिया। सुबह से टाेल टैक्स की सभी लेन चला दी जाएंगी।
टाेल पर लगा 2 किलोमीटर जाम
साेमवार से ही वाहनों से टोल वसूली शुरू हो गई थी। शंभू प्लाजा पर कई लेन बंद होने की वजह से मंगलवार को भी यहां घंटों जाम की स्थिति रही। जाम में फंसे एक सिख युवक ने टाेल का पाेल उठाकर वाहनाें काे निकाला। जाम की सूचना मिलने पर ट्रैफिक एसएचओ जाेगिन्द्र सिंह पहुंचे। करीब 20 मिनट तक टोल वसूली बंद कर वाहनों को निशुल्क निकाला। दूसरी तरफ सैनी माजरा टोल प्लाजा पर भी लंबी लाइनें लगी। यहां भी फास्ट टैग स्कैनर न चलने, न होने जैसी समस्याएं रहीं।

खबरें और भी हैं...