पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शहर को विवाद नहीं विकास चाहिए:मेयर बोलीं- अफसरों से स्पष्टीकरण लेंगे कि बैठक में क्यों नहीं आए

अम्बाला10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहर को विवाद नहीं विकास चाहिए }मेयर की बुलाई निगम बैठक में हजपा के ही 8 पार्षद आए; आरोप- विधायक के इशारों पर चल रहे कमिश्नर - Dainik Bhaskar
शहर को विवाद नहीं विकास चाहिए }मेयर की बुलाई निगम बैठक में हजपा के ही 8 पार्षद आए; आरोप- विधायक के इशारों पर चल रहे कमिश्नर
  • मेयर की बुलाई निगम बैठक में हजपा के ही 8 पार्षद आए
  • आरोप- विधायक के इशारों पर चल रहे कमिश्नर

अम्बाला सिटी नगर निगम की मेयर शक्ति रानी शर्मा की ओर से वीरवार को पंचायत भवन में बुलाई गई निगम की बैठक में सिर्फ मेयर व उनकी पार्टी के 8 पार्षद ही पहुंचे। न तो नगर निगम से कोई अधिकारी पहुंचा और न ही भाजपा, कांग्रेस व फ्रंट के 12 पार्षद।

इस दौरान हजपा पार्षदों ने आरोप लगाया कि निगम कमिश्नर पार्थ गुप्ता भाजपा विधायक असीम गोयल के इशारों पर चल रहे हैं। सदन का गठन होने के बावजूद बिना प्रस्ताव के ही टेंडर लगाए जा रहे हैं। शहर में गंदगी है। पार्षदों ने शहर में चौक-चौराहों पर हुए अनावश्यक खर्चों की जांच कराने की मांग उठाई। चुनाव प्रचार के दौरान पूर्व मंत्री विनोद शर्मा की हरियाणा जनचेतना पार्टी (हजपा) की प्रचार सभाओं में चौक बनाने के नाम पर भ्रष्टाचार होने के आरोप लगाए जाते थे।

सुबह 11 बजे मेयर व हजपा के 8 पार्षद पंचायत भवन में पहुंचे तो निगम का कोई अधिकारी-कर्मचारी वहां नहीं था। पीने के पानी की बोतलों व स्नैक्स का इंतजाम भी मेयर की ओर से खुद किया गया। दूसरे पार्षदों का कुछ देर इंतजार करने के बाद बैठक शुरू हुई।

मेयर ने कहा कि निगम से प्रस्तावित बजट मांगा था, लेकिन अकाउंटेंट ने बजट तैयार नहीं किया। बजट फरवरी के पहले सप्ताह में पेश होना चाहिए था ताकि महीने के अंत तक इसे सरकार से पास कराया जा सके। अगर बजट पास नहीं होगा तो शहर के सारे विकास कार्य रुकेंगे। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण रहा कि आज की मीटिंग में बजट पेश नहीं हो सका।

मेयर की बैठक में 3 बातें ही छाई रहीं; कमिश्नर, करप्शन और कचरान कमिश्नर फोन उठाते हैं न सेनेटरी इंस्पेक्टर

वार्ड-5 के पार्षद राजेश मेहता ने कहा कि शहर में गंदगी के लिए सेनेटरी इंस्पेक्टर पर कार्रवाई होनी चाहिए। वार्डों में 20 से 25 सफाई कर्मी लगाए गए हैं, लेकिन दरोगा सिर्फ 10 कर्मचारी सफाई पर लगाता है। वार्ड-11 पार्षद राजेंद्र कौर ने कहा कि सेनेटरी इंस्पेक्टर सुशील कुमार को फोन करो तो उठाते नहीं।

कमिश्नर भी कॉल रिसीव नहीं करते। कमिश्नर पर किसका दबाव है, सदन में बताएं। वार्ड-19 के पार्षद राकेश कुमार ने पटेल नगर की फोटो सदन में दिखाई, जिसमें नाला पूरी तरह से भरा हुआ है। सफाई कर्मी इस नाले में गंदगी खुद गिराते हैं। वार्ड-18 के सरदूल सिंह ने कहा आवारा पशुओं से लोग परेशान हैं।

पार्षदों ने कहा कि सदन की बैठक में बिना प्रस्ताव पारित किए डोर टू डोर कचरा उठाने का मासिक ठेका 1.25 करोड़ रुपए में दे दिया गया। वार्ड-1 के पार्षद जसबीर ने कहा कि निगम को अभी स्टेट अवार्ड स्वच्छता में मिला है, लेकिन अब शहर में सफाई नहीं है। राजेश मेहता ने कहा कि जो टेंडर निगम के गठन के बाद हुए हैं, वे कैंसिल होने चाहिए।

चौक पर 10 लाख का काम, खर्च दिखाए 50 लाख

वार्ड-12 की पार्षद अमनदीप कौर ने कहा कि तीन साल तक निगम के चुनाव नहीं हुए। इस दौरान धांधली हुई है। कई चौक बनाने में 50 लाख रुपए लगा दिए, जबकि असल में यह 10 लाख का काम है। सभी चौक निर्माण की जांच होनी चाहिए। जसबीर ने कहा कि जहां काम होना है, वहां की बजाय दूसरी जगह काम करा दिया जाता रहा है। पार्षद सरदूल ने कहा कि निगम की जमीनों का रिकॉर्ड डिजिटल होना चाहिए, क्योंकि निगम की जमीनों पर अवैध कब्जे हो रहे हैं।

काम के लिए जाओ तो कमिश्नर कहते हैं पहले विधायक का फोन कराओ

अमनदीप कौर ने कहा कि कमिश्नर नहीं चाहते कि शहर का विकास हो। इसलिए मेयर के आग्रह पर भी मीटिंग में अधिकारी नहीं भेजे। कमिश्नर को निगम सेलरी दे रहा है। कमिश्नर के पास काम के लिए जाओ तो कहते हैं कि पहले विधायक का फोन कराओ।

राजेश मेहता ने कहा कि कमिश्नर मनमर्जी चला रहे हैं। मेयर ने कहा कि गणतंत्र दिवस पर ध्वज फहराने के वक्त कमिश्नर निगम में नहीं आए। अगर वह कहीं व्यस्त थे तो प्रोटोकॉल के तहत किसी अन्य अधिकारी को जिम्मेदारी सौंपनी चाहिए थी। पार्षदों ने कहा कि कमिश्नर के खिलाफ सख्त एक्शन लेना चाहिए। मेयर ने कहा कि लिखित में जवाब मांगा जाएगा।

मेयर की मीटिंग के बाद अब नगर निगम सचिव ने पार्षदों को भेजा 23 फरवरी की बैठक का एजेंडा

जिस वक्त मेयर शक्ति रानी शर्मा अपने पार्षदों के साथ सदन की मीटिंग कर रहीं थी, उसी दौरान निगम सचिव जरनैल सिंह ने 23 फरवरी की मीटिंग तय करते हुए एजेंडा जारी कर दिया। एजेंडों में कहा गया कि मेयर की तरफ से 15 फरवरी को मीटिंग बुलाने का पत्र प्राप्त हुआ था। जिसके लिए नियमानुसार पांच दिन का नोटिस जारी करना आवश्यक होता है।

इसके लिए कुछ पार्षदों ने शिकायत की थी कि उन्हें निर्धारित समय में नोटिस नहीं मिला है। इसलिए 23 फरवरी को सुबह 11 बजे सफाई व्यवस्था के मुद्दे पर साधारण बैठक होगी। उसी दिन 11.30 बजे बजट पर चर्चा के लिए विशेष बैठक होगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें