पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैंप लगाने से आबादी कवर:32 गांवों में 90 प्रतिशत से अधिक लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन

अम्बाला16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रायवाली में सरपंच के 80 वर्षीय ससुर ने खुद वैक्सीन लगवा दी प्रेरणा, गुरुद्वारे-मंदिरों में की अनाउंसमेंट

जिले में बेशक अभी 70 प्रतिशत आबादी तक वैक्सीनेशन की पहली डोज पहुंचने में कुछ दिन और लग जाएंगे लेकिन इस मामले में कई गांव प्रेरणा स्त्रोत बनकर आगे आए हैं। जिले में अब तक 32 गांवों में लगभग 80 से 90 प्रतिशत लोगों ने वैक्सीन की पहली डोज लगवा ली है। सहोता गांव की पंचायत तो स्वास्थ्य विभाग को 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट दे चुकी है।

वैक्सीनेशन के इस आंकड़े तक पहुंचने के लिए गांव के सरपंचों, एएनएम, आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर व संबंधित डॉक्टरों ने मिलकर काम किया। गांवों में बार-बार कैंप लगाने से यह वैक्सीनेशन शत-प्रतिशत हो पाया। रायवाली गांव की सरपंच गुरमीत कौर के 80 वर्षीय ससुर करनैल सिंह बीएसएफ से डिप्टी कमांडेंट रिटायर हैं और उन्होंने लोगों को प्रेरित करते हुए आगे आकर खुद वैक्सीनेशन लगवाई। करनैल सिंह के मुताबिक वैक्सीनेशन को लेकर बार-बार गुरुद्वारा मंदिर से अनाउंसमेंट की गई। करीब 5 हजार आबादी वाले इस गांव में छह बार कैंप लगाए तो जाकर वैक्सीनेशन 90 प्रतिशत तक पहुंचा।

वहीं, तसड़ोला, तसड़ोली व खानपुर को कवर कर रही एएनएम कुसुम ने बताया कि इन गांवों में सबसे पहले एक्स सर्विसमेन व अन्य रिटायर हुए लोगों ने वैक्सीन लगवाई। सरपंच के परिवार ने भी आगे आकर वैक्सीन लगवाई। ऐसे लोगों ने दूसरों को भी प्रेरणा दी। जिससे वे लगभग 100 प्रतिशत पहली डोज के आंकड़े तक पहुंचे। पंजेटो के सरपंच ओमप्रकाश ने बताया कि गांव में करीब तीन बार कैंप लगा है। वैक्सीनेशन को लेकर कहीं विरोध देखने को नहीं मिला।

बड़ागढ़ गांव के सरपंच अनिल कुमार के मुताबिक साझे प्रयासों से वैक्सीनेशन का आंकड़ा बढ़ा। उनके गांव में करीब 1470 लोग 18 प्लस के वर्ग में आते हैं। मंगलौर गांव के सरपंच वकील चंद ने बताया कि गांव में 2 बार कैंप लगा। सिविल सर्जन डॉ. कुलदीप सिंह ने बताया कि आने वाले दिनों में कई और गांव इस आंकड़े को छूएंगे। अब तक जिले में 5,32,144 ने पहली डोज व 2,11,625 ने दूसरी डोज लगवाई है।

मंगलवार को बरसात के बावजूद 2 हजार डोज वैक्सीन लगी। इसमें 18 से 44 साल के आयु वर्ग में 739 को पहली डोज व 136 को दूसरी डोज लगी। 45 से 60 साल के आयु वर्ग में 136 ने पहली डोज व 60 साल से अधिक के वर्ग में 138 को पहली व 225 को दूसरी डोज लगी। मंगलवार को 1520 को कोविशील्ड व 480 को कोवैक्सीन लगाई गई। इस माह में अभी तक 60 हजार को पहली डोज व 54,741 को दूसरी डोज लगी है।

इन गांवों में वैक्सीन की पहली डोज लेने वालों का आंकड़ा 90 से 100 प्रतिशत के बीच

सहोता, बालापुर, जमाल माजरा, रायवाली, गाजीपुर, श्यामडू, दानीखेड़ा, तसड़ोला, तसड़ोली, खानपुर, छज्जू माजरा, काला अंब, सकरपुरा, हमीदपुर, रामपुर, डेहा बस्ती, शहजादपुर, जंगू माजरा, शहजादपुर माजरा, खेड़की, मानकपुर, मंगलौर, सादिकपुर, पंजेटो, बिलपुरा, नग्गल घरोटी, नगावां, बड़ागढ़, मुन्ना माजरा, पिंजोरी, रामपुर, भूरेवाला, काठे माजरा।

मंगलवार को कोई पॉजिटिव केस नहीं मिला, अब जिले में महज 6 एक्टिव केस, 2 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर
मंगलवार को जिले में कोई नया कोरोना केस नहीं मिला। सोमवार को 2007 सैंपल लिए गए थे। वहीं, दो मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया। जिससे अब जिले में महज 6 एक्टिव मरीज हैं। इनमें से 4 मरीज होम आइसोलेट हैं तो 2 अस्पताल में ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। अब जिले का रिकवरी रेट 98.29 प्रतिशत है।

खबरें और भी हैं...