पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रिश्वत मांगने के मामले में सुनवाई:दोनों पक्षों को सुनने के बाद नायब तहसीलदार बोधराज सिंह की अग्रिम जमानत याचिका खारिज

अम्बालाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

पूर्व पार्षद से रिश्वत लेने के मामले में फंसे नायब तहसीलदार बोधराज सिंह ने अदालत में अग्रिम जमानत याचिका दायर की। सुनवाई के दौरान अदालत ने दोनों पक्षों को सुना, जिसके बाद जमानत याचिका को खारिज कर दिया। बचाव पक्ष के वकील का तर्क था कि याचिकाकर्ता ने किसी तरह की रिश्वत नहीं ली और उनके ऊपर लगे आरोप गलत हैं।

दूसरी ओर अभियोजन पक्ष ने जमानत याचिका को खारिज करने की मांग की और मामले में पुलिस हिरासत में पूछताछ की मांग की गई। अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद नायब तहसीलदार की जमानत याचिका को खारिज कर दिया। जमानत याचिका खारिज होने पर नायब तहसीलदार पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है, हालांकि उनके पास हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर करने का अधिकार है।

बता दें कि पिछले दिनों पूर्व पार्षद ओंकार नाथी ने नायब तहसीलदार पर एक लाख रुपए रिश्वत लेने का आरोप लगाए था। इस मामले में कैंट थाना पुलिस ने मामला दर्ज किया था। इसकी जांच कैंट डीएसपी को सौंपी गई थी और डीएसपी ने नाथी से रिश्वत मांगने के सबूत पेश करने को कहा था। वहीं शुक्रवार को नाथी ने डीएसपी के समक्ष पेश होकर कुछ सबूत भी दिए हैं।

खबरें और भी हैं...