पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शहरवासियों में रोष:कोरोना के चलते नारायणगढ़ का एकमात्र पार्क बंद, रात काे शरारती तत्व करते हैं नशा

नारायणगढ़18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नारायणगढ़ में बंद किए गए पार्क के गेट। - Dainik Bhaskar
नारायणगढ़ में बंद किए गए पार्क के गेट।
  • पार्क बंद होने से यहां सैर करने वाले लोग व पार्क वेलफेयर एसोसिएशन खफा

एसडीएम के आदेश पर शहर के एकमात्र पार्क काे बंद कर दिया गया है। इसकी वजह शरारती तत्व और कोरोना को माना जा रहा है। वहीं प्रशासन की इस कार्रवाई से शहरवासियों और पार्क वेलफेयर एसोसिएशन में रोष है।

बुधवार शाम काे एसडीएम डॉ. वैशाली शर्मा के आदेश पर पार्क के तीनों गेट बंद कर दिए गए। एसडीएम का कहना है कि एक तो कोरोना काल को देखते हुए पार्क को बंद किया गया है, ताकि ज्यादा भीड़ इकट्ठा न हो। दूसरा रात के समय कुछ शरारती तत्व भी यहां नशा करते हैं। वहीं, शहरवासियों का कहना है कि पार्क को बंद करना समस्या का समाधान नहीं है। प्रशासन शरारती तत्वों पर कार्रवाई करने के बजाय लोगों के अधिकारों का हनन कर रहा है। पार्क बंद किए जाने पर जिम्मेदार लोगों ने प्रतिक्रिया जाहिर की है।

वरिष्ठ अधिवक्ता संजय अग्रवाल ने कहा कि जब सरकार बाजार और अन्य संस्थानों को अनलॉक कर रही है। ऐसे में एसडीएम पार्क को बंद कर रही हैं। अब लोगों को मायूस होकर लौटना पड़ा है। बलविंद्र सिंह वालिया का कहना है कि पार्क में लाखों रुपए खर्च कर सीसीटीवी कैमरे और लाइटें लगवाई गई हैं। यदि कोई यहां शराब पीता है या अन्य नशे करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। पार्क को बंद करना समस्या का हल नहीं है।

प्रशासन की कार्रवाई गलत : बलजिंद्र

समाजसेवी बलजिंद्र सिंह (बंटी) ने कहा कि पार्क की देखरेख का ठेका दिया गया है। हर महीने नगरपालिका से ठेकेदार को लाखों रुपए दिए जाते हैं। ठेकेदार की जिम्मेदारी है कि वह शरारती तत्वों को पार्क में आने से रोके। इसके लिए वह रात के पहरेदार रखे या कोई और इंतजाम करे। यदि शहर में कहीं और कोई गलत काम होता है तो क्या शहर को बंद कर दिया जाएगा। प्रशासन की कार्रवाई सरासर गलत है।

ठेकेदार को कहा गया है कि वह रात के समय दो लोगों की ड्यूटी पार्क में लगाए। ताकि असामाजिक तत्वों को रोका जा सके। मैं खुद इस मामले में एसडीएम से बात करूंगा।
श्रवण कुमार, निवर्तमान चेयरमैन, नगरपालिका, नारायणगढ़

खबरें और भी हैं...