अंबाला में NHM कर्मियों की हड़ताल:एंबुलेंस समेत सभी सेवाएं बंद; CMO ऑफिस के बाहर नारेबाजी, आउटसोर्स कर्मचारियों ने चलाईं एंबुलेंस

अंबालाएक महीने पहले
अंबाला सीएमओ ऑफिस के बाहर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते एनएचएम कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
अंबाला सीएमओ ऑफिस के बाहर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते एनएचएम कर्मचारी।

हरियाणा के अंबाला जिले में एकमुश्त सैलरी के विरोध में NHM कर्मचारियों ने आज तीन दिवसीय हड़ताल शुरू कर दी है। वित्त विभाग द्वारा जारी पत्र के विरोध में कर्मचारी भारतीय मजदूर संघ के आह्वान पर एंबुलेंस समेत सभी स्वास्थ्य सेवाएं बंद रखने का ऐलान किया है।

जिलेभर के NHM कर्मचारी सुबह 9 बजे तक जिला सिविल सर्जन कार्यालय के बाहर एकत्रित हुए। यहां अपनी मांगों के समर्थन में सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कर्मचारियों ने सांकेतिक हड़ताल के दौरान मांगें पूरी न होने पर अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू करने की चेतावनी दी है।

अंबाला सिटी सिविल अस्पताल में खड़ी एंबुलेंस।
अंबाला सिटी सिविल अस्पताल में खड़ी एंबुलेंस।

एंबुलेंस सेवा हुई प्रभावित

कर्मचारियों की हड़ताल के चलते सबसे ज्यादा एंबुलेंस सेवाएं प्रभावित हुई हैं। ज्यादातर एंबुलेंस चालक, ईएमटी और कंप्यूटर ऑपरेटर हड़ताल में शामिल हुए। स्वास्थ्य विभाग को एंबुलेंस सेवाएं सुचारु रूप से चलाने के लिए आउटसोर्सिंग पॉलिसी के तहत लगे 4 चालकों से काम चलाया। हालांकि,स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का दावा है कि एंबुलेंस समेत सभी सेवाएं सुचारु रूप से चल रही हैं।

धरनास्थल पर पंखी से हवा करतीं महिला स्वास्थ्य कर्मचारी।
धरनास्थल पर पंखी से हवा करतीं महिला स्वास्थ्य कर्मचारी।

धरना स्थल पर नहीं चले पंखे, गर्मी में बेहाल हुए कर्मचारी

पारा 35 डिग्री सेल्सियस पहुंचने के लिए धरना स्थल पर हड़ताली कर्मचारियों द्वारा पंखों की व्यवस्था की गई, लेकिन लंबे समय तक बिजली का कट लगने के कारण कर्मचारी गर्मी से बेहाल रहे। आखिर में बाजार से हाथ वाली पंखी मंगवानी पड़ी। इसके बाद कर्मचारियों ने थोड़ी राहत मिली।

CMO को ज्ञापन सौंपेंगे स्वास्थ्य कर्मचारी

स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के जिला प्रधान तरनदीप सिंह ने कहा कि सरकार NHM कर्मचारियों की अनदेखी करती आई है। 7वें वेतन आयोग की घोषणा करने के बाद भी कर्मचारियों को उसका लाभ नहीं दिया जा रहा। वे CMO डॉ. कुलदीप सिंह को ज्ञापन सौंपेंगे।