संशोधन रद्द करने की मांग:ओबीसी अधिकार पदयात्रा रोहतक से अम्बाला पहुंची

अम्बालाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ओबीसी अधिकार पदयात्रा में शामिल सदस्यों का स्वागत करते हुए। - Dainik Bhaskar
ओबीसी अधिकार पदयात्रा में शामिल सदस्यों का स्वागत करते हुए।

राज्यपाल को देगी मांगपत्र, 127वां संविधान संशोधन रद्द करने की करेंगे मांग पिछड़ा वर्ग कल्याण महासभा द्वारा निकली गई पदयात्रा रोहतक से चलकर मंगलवार काे अम्बाला पहुंची। यहां पूर्व हरियाणा विधानसभा स्पीकर रघुबीर कादियान ने उनका स्वागत किया व उन्हें समर्थन भी दिया। यह यात्रा आगे चंडीगढ़ में राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय से मिलकर अपना मांगपत्र साैंपेगी।

सभा की मांगें: ओबीसी कल्याण सभा की मांग है कि 127वां संविधान संशोधन बिल रद्द करके 2021 की जनगणना में ओबीसी का कॉलम जोड़कर जाति आधारित करवाई जाए। पंचायती राज, निकायों, विधानसभा, लोकसभा में जनसंख्या के अनुपात में ओबीसी की सियासी हिस्सेदारी दी जाए।

पिछड़ा वर्ग संख्या के अनुपात में निजी क्षेत्र में भी आरक्षण लागू किया जाए। प्रदेश में बीसी क्रीमी लेयर नया नोटिफिकेशन 17 नवंबर 2021 को तुरंत रद्द करके केंद्र की तर्ज पर लागू किया जाए। हरियाणा प्रदेश की पहली व द्वितीय स्तरीय नौकरियों में 27 फीसदी आरक्षण पूरा किया जाए जो मौजूद में 15 फीसदी है। ठेका प्रणाली द्वारा बैकडोर की भर्ती बंद की जाए। 80 विद्यार्थियों की तरह ओबीसी विद्यार्थियों को भी उच्च शिक्षा हेतु आर्थिक सहायता प्रदान की जाए।

खबरें और भी हैं...