पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तकनीकी समस्या:बिजली निगम के ट्रायल से कई प्राइवेट अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट बंद हुए

अम्बाला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक्सईएन कैंट को यह समस्या बताई  गई है। - Dainik Bhaskar
एक्सईएन कैंट को यह समस्या बताई गई है।
  • बैकअप से मरीजों को देनी पड़ी ऑक्सीजन, संचालको ने डीसी शिकायत भी की थी

बिजली निगम के ट्रायल से निजी अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट बंद हो गए, जिसके कारण अस्पताल में दाखिल मरीजों को ऑक्सीजन की सप्लाई बंद हो गई थी। इसलिए आनन-फानन में बैकअप में मरीजों को सिलेंडर से ऑक्सीजन दी गई। इस तकनीकी समस्या के संबंध में अस्पताल संचालकों की ओर से एक्सईएन को भी शिकायत की गई है ताकि आगे इस तरह की दिक्कत न आए। इसके अलावा कुछ अस्पताल संचालकों ने डीसी से पावर कट लगने की शिकायत भी की है।

हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम का यह ट्रायल 66 केवी आईओसी में किया गया था। एचवीपीएन की टीम ने जैसे ही 66 केवी लाइन को एक लाइन से दूसरी लाइन में सप्लाई को कनेक्ट किया तो उससे फेस उलटे हो गए। इसलिए कैंट लाइन से जुड़े अस्पतालों में यह दिक्कत आई। ऑक्सीजन प्लांट के अलावा दूसरे बिजली उपकरणों भी इसका असर रहा। जिसे बाद ठीक कर दिया गया।

ट्रायल से ये हुआ था, जिससे परेशानी हुई

रिटायर्ड जेई अमरीक सिंह ने बताया कि 66 केवी लाइन को जब दूसरे सब स्टेशन की लाइन से कनेक्ट करके सप्लाई ली जाती है तो सब स्टेशन के अंदर रेड, येलो और ब्लू की लाइट जलती है। यदि यह लाइट ब्लू, येलो, रेड जल जाए तो फेस बदलने वाली टीम को पता चल जाता है कि सप्लाई ठीक नहीं है। यदि टीम एक है तो इसमें तीन घंटे लगते हैं और यदि दो टीमें हैं तो दो घंटे लगते हैं। इसका असर बिजली उपकरण पर होता है वो उलटा घूमना शुरू हो जाते हैं। इससे बिजली के उपकरणों को बंद करना पड़ता है।

शिकायत के लिए न स्पेशल टीम न ही गाड़ी

कोविड-19 के चलते बिजली निगम की ओर से कोई स्पेशल टीम गठित नहीं की गई है ताकि समय पर बिजली की शिकायत को दूर किया जा सके। एकता विहार में बिजली के कंपलेट सेंटर के पास कमर्शियल व घरेलू एरिया ज्यादा है। महेश नगर तक का एरिया सेंटर के पास है लेकिन बिजली कर्मचारियों के पास कोई गाड़ी नहीं है, इसलिए फॉल्ट ठीक करने में समय लग जाता है। एक्सईएन कैंट को यह समस्या बताई भी गई है।

शिकायत के लिए न स्पेशल टीम न ही गाड़ी

कोविड-19 के चलते बिजली निगम की ओर से कोई स्पेशल टीम गठित नहीं की गई है ताकि समय पर बिजली की शिकायत को दूर किया जा सके। एकता विहार में बिजली के कंपलेट सेंटर के पास कमर्शियल व घरेलू एरिया ज्यादा है। महेश नगर तक का एरिया सेंटर के पास है लेकिन बिजली कर्मचारियों के पास कोई गाड़ी नहीं है, इसलिए फॉल्ट ठीक करने में समय लग जाता है। एक्सईएन कैंट को यह समस्या बताई भी गई है।

खबरें और भी हैं...