गुरु ग्रंथ साहिब के सामने से तलवार उठाने का मामला:पुलिस बोली- बहकी-बहकी बातें कर रहा अनिल, रिमांड खत्म होने पर जेल भेजा

अम्बाला9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अनिल पासवान। - Dainik Bhaskar
अनिल पासवान।

कैंट की डिफेंस कॉलोनी में स्थित सिंह सभा गुरुद्वारे में बुधवार सुबह हुए बेअदबी जैसे मामले में गिरफ्तार आरोपी अनिल पासवान ने को पुलिस ने दो दिन के रिमांड के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। पुलिस पूछताछ में दो दिन के रिमांड में अनिल ने बताया कि गुरुद्वारा साहिब में जब उसने तलवार उठाई तो उसे ऐसा लगा कि जैसे ये काम वह स्वयं नहीं कर रहा, उससे कोई करवा रहा है। उसने ये भी बताया कि करनाल में उसके दोस्त के पास उसका बड़ा मोबाइल है, बाद में बोला कि नहीं है।

बता दें कि इससे पहले अनिल ने कहा था कि वह मंदिर में खड़ाऊ की तरह तलवार को माथे पर लगाकर नमन कर रहा था। उसके बाद तलवार को वहीं पर रख दिया था। उसकी मंशा किसी को नुकसान पहुंचाने की नहीं थी। पुलिस ने इस दौरान अनिल पासवान के घर पर भी बात की। परिजनों ने भी पुलिस को बताया कि वह काम न मिलने के कारण परेशान है। पुलिस ने अनिल को वीरवार को अदालत में पेश कर 2 दिन के रिमांड पर लिया था। मामले में पंजोखरा थाना पुलिस का कहना है कि अनिल पासवान परेशानी के चलते बहकी-बहकी बातें कर रहा था।

पुलिस का कहना है कि अनिल की पहचान चेक की जा चुकी है। बुधवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे अम्बाला कैंट की डिफेंस कॉलोनी में स्थित गुरुद्वारा सिंह सभा में बिहार में सुपोल के गांव परमानंद घोसपुर निवासी अनिल पासवान ने सजे शस्त्रों में से तलवार उठा ली थी। अनिल को मौके पर ही संगत ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था। मामले में डिफेंस कॉलोनी के सेक्टर- सी निवासी दलेर सिंह की शिकायत पर अनिल के खिलाफ धारा 295 के तहत केस दर्ज किया गया था। शिकायत में उन्होंने अनिल पर धार्मिक भावानाओं को ठेस पहुचाने का आरोप लगाया था।

खबरें और भी हैं...