सेक्टर-9 में दूसरे दिन दिखी सख्ती:लक्ष्मी नगर की मेन गली में बेरिकेड्स लगाए लेकिन परशुराम नगर में नहीं बदले हालात

अम्बाला सिटी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अम्बाला सिटी | परशुराम नगर में खुली दुकानें। - Dainik Bhaskar
अम्बाला सिटी | परशुराम नगर में खुली दुकानें।
  • आवाजाही पर पूर्ण पाबंदी न होने से संक्रमण रोकना चुनौती

मैक्रो कंटेनमेंट जोन सेक्टर-9 में दूसरे दिन सख्ती दिखी। सेक्टर के सभी छोटे-बड़े गेट बंद किए हुए थे। सेक्टर-9 मार्केट की तरफ जाने वाले मुख्य रास्ते से एंट्री थी। यहां सुरक्षा गार्ड तैनात थे जबकि ओपीएस स्कूल की तरफ पुलिस मुलाजिम ड़्यूटी दे रहे थे। इसके बावजूद सेक्टर-9 में एंट्री हो रही थी। अंदर जो लोग रहते हैं वे कामकाज के लिए निकल रहे थे।

शहीद उधम सिंह चौक के नजदीक सेक्टर-10 वाटर वर्कस के सामने बने गेट के साथ खाली प्लाॅट की दीवार नहीं होने से लोगों ने यहां से रास्ता ढूंढ लिया था। ऐसे में पूरी तरह से आवाजाही पर रोक नहीं होने से मैक्रो कंटेनमेंट जोन में कोरोना संक्रमण रोकना किसी चुनौती से कम नहीं है। दूसरी तरफ लक्ष्मी नगर में मुख्य गेट पर दूसरे दिन बेरिकेड्स नजर आए।

हालांकि, यहां अंदर जाने के कई रास्ते हैं। लोग ग्रेटर कैलाश नगर व आगे सेक्टर-9 व 10 के चौराहे से जंडली की तरफ जाने वाली सड़क से आवाजाही कर रहे थे। जंडली में भी लोग रेलवे फाटक की तरफ से एंट्री कर रहे थे। दूसरी तरफ परशुराम नगर में दूसरे दिन भी कोई सख्ती देखने को नहीं मिली। यहां गलियों में रोजाना जरूरत की दुकानें पहले की तरह खुली थीं। सेक्टर-8 हुड्डा ग्राउंड के सामने कर्ण पैलेस के साथ से लोग जलबेहड़ा रोड की तरफ आ जा रहे थे। इसी प्रकार रतनगढ़ से परशुराम नगर की तरफ रास्ते पर भी कोई रोकटोक नहीं थी।

सेक्टर-9 में गेट बंद रहने से डिलीवरी ब्वॉय रहे परेशान

सेक्टर-9 के सभी गेट बंद होने से यहां ऑनलाइन खरीदे गए सामान की डिलीवरी देने वाले लोग परेशान घूमते दिखे। जो गेट पर बैठे सुरक्षा कर्मियों को संबंधित मकान तक जाने की गुजारिश करते दिखाई दिए। इसके साथ ही वे वैकल्पिक रास्ता भी ढूंढते रहे। बाद में सेक्टर-10 वाटर वर्कस के सामने से ये लोग अंदर जाते नजर आए।

खबरें और भी हैं...