पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पाेर्टल पर फसल का रजिस्ट्रेशन का समय खत्म:पट्टे वाले किसानों की फसल का पोर्टल पर नहीं हो पाया रजिस्ट्रेशन

अम्बाला12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मार्केट कमेटी सचिव के सामने शिकायत करते मछोंडा के किसान। - Dainik Bhaskar
मार्केट कमेटी सचिव के सामने शिकायत करते मछोंडा के किसान।
  • लीज एग्रीमेंट व जमाबंदी न होने से किसानों को आई समस्या
  • अधिकारी बाेले- किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए अथॉरिटी से बात करेंगे

मेरी फसल, मेरा ब्यौरा पोर्टल पर किसानाें की गेहूं की फसल का रजिस्ट्रेशन कराने का मंगलवार को अंतिम दिन था। काफी किसान ऐसे हैं जिनका रजिस्ट्रेशन अभी भी नहीं हो पाया। लीज एग्रीमेंट व जमाबंदी न हाेने के कारण कई किसानाें काे रजिस्ट्रेशन कराने में समस्या आ रही है।

किसान जब मार्केट कमेटी कार्यालय में जाकर समस्या बताते हैं तो उसका समाधान नहीं हो रहा। यह भी स्पष्ट नहीं है किसानों की रजिस्ट्रेशन से जुड़ी समस्याओं का हल कौन करेगा। क्योंकि, मार्केट कमेटी सचिव को हेल्प डेस्क का सदस्य बनाया गया है।

जिला खाद्य एवं नियंत्रक अम्बाला राजेश्वर मोदगिल का कहना है कि किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए अथॉरिटी से बातचीत की जाएगी। लीज एग्रीमेंट न होने की एक वजह है, क्योंकि जमाबंदी भी लीज पर देने वाले किसान के नाम होगी।

पोपलर लगने से भी मिस मैच हुआ डाटा

पोर्टल में ऐसे किसानों का डाटा भी मिलान नहीं कर पाया है जिन्हाेंने खेत में गेहूं होने का दावा किया था लेकिन साथ में उसके खेत में पोपलर या अन्य कोई पेड़ भी लगा रखे हैं। जब पटवारी ने ड्रोन से सर्वे किया तो उसमें जंगल दिखाई दिया। यह भी कई किसानों की समस्या बनी हुई है। अम्बाला की बजाए यमुनानगर में यह दिक्कत सबसे ज्यादा है।

मेरी फसल, मेरा ब्यौरा पोर्टल पहले हरियाणा स्टेट मार्केटिंग बोर्ड के अधीन था, जिसे अब एग्रीकल्चर विभाग देख रहा है। विभाग ने एक कमेटी बनाई हुई है जो किसानों की समस्याएं सुनेगी। किसान को कमेटी के पास भेज दिया जाता है, जहां पर उनकी समस्याओं की सुनवाई हो रही है।
नीरज भारद्वाज, सचिव, मार्केट कमेटी अम्बाला कैंट

जसप्रीत ने 4 एकड़ में गेहूं लगाई, पाेर्टल पर 5 कनाल फसल का ही रजिस्ट्रेशन हो पाया

गांव मच्छौंडा के किसान जसप्रीत सिंह ने बताया कि उनके पास 7 एकड़ जमीन है, जिसमें से 3 एकड़ पर सूरजमुखी लगा रखी है और 4 एकड़ में गेहूं की फसल। जब उसने पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराया ताे उसके बाद गांव में पटवारी ने ड्रोन के जरिए सर्वे किया।

अब फसल मंडी के गिराने से पहले उन्होंने जब पोर्टल पर रकबा चेक किया तो पता चला कि 4 एकड़ में से महज 5 कनाल फसल का ही रजिस्ट्रेशन हो पाया है, बाकी 3 एकड़ 3 कनाल फसल का रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ। जसप्रीत ने बताया कि पोर्टल पर वह कई बार प्रयास कर चुके हैं। हर बार 2 ऑब्जेक्शन लगाए जा रहे हैं, जिनको जानने व दूर करने के लिए वह कमेटी कार्यालय के साथ-साथ सिटी की दौड़ लगा रहे हैं, लेकिन समाधान नहीं हो रहा।

जमीन पट्टे पर ली है तो लीज के दस्तावेज होने जरूरी: यदि किसान ने पट्टे पर जमीन लेकर गेहूं की फसल लगाई है तो उसके पास रजिस्ट्रेशन के लिए लीज एग्रीमेंट होना जरूरी है। यदि लीज एग्रीमेंट नहीं होगा तो पट्टे पर फसल लगाने वाले किसानों का रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाएगा। ऐसी स्थिति में जमीन मालिक को पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा और मंडी में गेट पास ऑनलाइन और ऑफलाइन जारी होगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें