पाॅलीटेक्निक में 4 साल बाद फिर शुरू हाेगा समेस्टर सिस्टम:नए सत्र में प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए होगा समेस्टर

अम्बाला8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नए सत्र में राजकीय पाॅलीटेक्निक में समेस्टर के तहत पढ़ाई करवाएगी जाएगी। 2018 में तकनीकी शिक्षा विभाग ने तीन वर्षीय डिप्लाेमा के प्रथम वर्ष में समेस्टर से परीक्षा लेनी बंद कर दी थी। प्रथम वर्ष में वार्षिक परीक्षा ली जा रही थी, जबकि दूसरे व तीसरे साल में सेमेस्टर लागू किया था। मगर अब डिप्लाेमा के सभी तीन साल में समेस्टर से पढ़ाई करवाई जाएगी। विभाग नए सत्र से प्रथम वर्ष में समेस्टर शुरू करेगा। सेमेस्टर न हाेने से प्रथम वर्ष में वार्षिक परीक्षा ली जाती रही। अब समेस्टर हाेने से छह-छह महीने में परीक्षा ली जाएगी।

दरअसल, पाॅलीटेक्निक में जून-जुलाई तक दाखिले शुरू हाेते हैं। काउंसिलिंग प्रक्रिया लंबी हाेने से दाखिले लेट भी हाेते हैं। जिससे प्रथम वर्ष में पढ़ाई लेट शुरू हाेती है, इसलिए वार्षिक परीक्षा शुरू की थी। राजकीय पाॅलीटेक्निक संस्थान प्रिंसिपल डाॅ. राजीव सपरा ने बताया कि नए सत्र से सभी डिप्लाेमा काेर्स में प्रथम वर्ष में भी सेमेस्टर लागू हाेगा। करीब 4 साल से प्रथम वर्ष में वार्षिक परीक्षाएं ली जा रही थी। समेस्टर प्रक्रिया सभी 8 काेर्स में शुरू हाेगी।

संस्थान में 8 काेर्स पहले चल रहे
संस्थान में मूक-बधिर विद्यार्थियाें के लिए प्रदेश का पहला लाइब्रेरी इंफार्मेशन साइंस डिप्लाेमा शुरू हाेगा। इस काेर्स में सिर्फ मूक-बधिर विद्यार्थी ही दाखिले ले पाएंगे। जून-जुलाई से काेर्स के लिए दाखिले शुरू हाेंगे। प्रदेशभर में यह पहला राजकीय संस्थान हाेगा, जहां मूक-बधिर विद्यार्थियाें के लिए लाइब्रेरी इंफाेर्मेशन साइंस डिप्लाेमा शुरू किया जाएगा। काेर्स में 30 सीट हाेंगी। इसी तरह सिटी के ही कल्पना चावला गर्ल्स पाॅलीटेक्निक में भी लाइब्रेरी इंफाॅर्मेशन साइंस डिप्लाेमा चल रहा है, हालांकि यह सिर्फ लड़कियाें के लिए ही है। इससे पहले संस्थान में सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्राॅनिक, कंप्यूटर, प्लास्टिक, ऑटाे, आर्किटेक्चर काेर्स चल रहे हैं। इनमें 1800 विद्यार्थी पढ़ते हैं।

खबरें और भी हैं...