भाकियू नेताओं का अभिनंदन:किसी ने 5 महीने कपड़े धाेने की सेवा की ताे किसी की खेती भी दाेस्ताें काे संभालनी पड़ी

अम्बाला सिटीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी की अनाज मंडी से शुरू हुई भाकियू की स्वागत रैली में शामिल किसान नेता। - Dainik Bhaskar
सिटी की अनाज मंडी से शुरू हुई भाकियू की स्वागत रैली में शामिल किसान नेता।

वैसे ताे किसान आंदाेलन में सभी धरतीपुत्राें का सहयाेग रहा, मगर कईऐसे भी युवा व बुजुर्ग किसान रहे, जिन्हाेंने किसान आंदाेलन में इतनी ताकत झाेंक दी कि वह कई-कई महीनाें तक सिंघु बाॅर्डर पर ही सेवा करते रहे।ऐसे ही गांव चाैड़मस्तपुर के युवाओं ने हिस्सा लिया। यह युवा दिल्ली से आने के बाद शंभू बाॅर्डर पर भी दाे दिनाें से लगातार भाग ले रहे थे। गांव के युवा किसान परमीत सिंह ने अपने साथी कैप्टन सतबीर सिंह, रणबीर अंटाल, मनदीप अंटाल, प्रदीप अंटाल, गुरविंद्र, माेहित शर्मा, बबलू व अन्य युवाओं के साथ मिलकर आंदाेलन में भाग लिया। परमीत ने बताया कि गांव के युवाओं ने उत्साह के साथ किसान आंदाेलन में अपनी ड्यूटी दी।

मैं भी खेती करता हूं, मगर जब मैं सिंघु बाॅर्डर पर हाेता था ताे मेरे पिताजी खेताें का कार्य देखते थे। जब पिताजी भी बाहर हाेते थे ताे मेरे दाेस्त खेता बाड़ी कार्य संभालते थे। गांव के ही बबलू ने 5 महीने किसान आंदाेलन में सिंघु बाॅर्डर पर किसानाें के कपड़े धाेने की सेवा की। कैप्टन सतबीर] रणबीर व मनदीप अंटाल भी शुरुआत से ही डटे हुए थे।

अम्बाला सिटी. किसान आंदाेलन की जीत के बाद अब भारतीय किसान यूनियन के नेता गांव-गांव ट्रैक्टर रैली निकाल कर किसानाें का धन्यवाद करने के लिए पहुंच रहे हैं। साेमवार काे भाकियू नेताओं ने गांव जलबेड़ा व कांवला में ट्रैक्टर रैली निकाली। जलबेड़ा में जैसे ही यह काफिला पहुंचा ताे सबसे पहले गांव के चाराें तरफ चक्कर लगाया गया। इसके बाद काफिला गुरुद्वारा साहिब में पहुंचा, जहां माैजूद किसानाें व महिलाओं ने किसान नेताओं का फूलाें की बारिश से स्वागत किया। अरदास के बाद गुरु का लंगर चलाया गया। माैके पर भारतीय किसान यूनियन के नेता अमरजीत सिंह माेहड़ी, जय सिंह जलबेड़ा, सुखविंद्र सिंह जलबेड़ा, बलजिंद्र सिंह चुडियाला, सुखदेव सिंह, वजिंद्र सिंह काम्बाेज, नवदीप जलबेड़ा, कुलदीप सिंह माेहड़ी समेत अन्य नेता शामिल रहे। इसके उपरांत यह काफिला गांव कांवला के लिए रवाना हुआ।

आज शंभू बाॅर्डर पर सुखमनी साहिब पाठ के साथ किसान माेर्चे की हाेगी समाप्ति

अम्बाला सिटी. एक साल से शंभू बाॅर्डर पर चल रहे किसान माेर्चा की समाप्ति 14 दिसंबर मंगलवार काे हाेगी। सुबह 10 बजे श्री सुखमनी साहिब का पाठ रखा जाएगा। सुबह 11:30 बजे पाठ का भाेग पड़ने के उपरांत तेग बरताई जाएगी। इसके बाद लंगर चलेगा। भारतीय किसान यूनियन के प्रधान सलाहकार वीजेंद्र कांबाेज ने बताया कि मंगलवार काे दाेपहर में शेड खाेला जाएगा और किसान माेर्चा की समाप्ति की जाएगी। दरअसल, 12 दिसंबर काे शंभू बाॅर्डर पर कृषि कानूनाें के विराेध में किसानाें ने एक दिन टाेल प्लाजा बंद रखकर विराेध जताया था। इसके बाद जब सरकार ने काेई जबाव नहीं दिया था ताे 25 दिसंबर 2020 काे शंभू बाॅर्डर पर किसानाें ने अस्थाई टेंट लगाकर टाेल प्लाजा काे बिल्कुल बंद कर दिया था। बीते मई महीने में जब कई बार बारिश व तूफान के कारण टेंट फटा ताे किसानाें ने सड़क के किनारे ही टाेल प्लाजा के बाहर शेड डाला था। अब इस शेड काे खाेला जाएगा।

खबरें और भी हैं...