पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जन संकल्प से हारेगा कोरोना:बेटे-बहू ने सेवा की, पाेते-पाेती ने खाने का ध्यान रखा, न ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी और न अस्पताल जाने की

अम्बाला8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना वॉरियर  - Dainik Bhaskar
कोरोना वॉरियर 
  • कोरोना संक्रमण होने के बावजूद अपनी इच्छाशक्ति से कोरोना को हराने वालों की जांबाज कहानियां, आज पढ़े पूर्व पार्षद की कहानी- रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो बच्चों ने हौसला दिया, बेटे ने 15 दिन तक अच्छी खबरें ही सुनाई

दुर्गा अष्टमी को कंजक पूजन के 3-4 घंटे बाद हल्का बुखार हुआ। तुरंत दवा ली और खुद को अलग कमरे में आइसोलेट कर लिया। अगले दिन खुद स्कूटी पर अस्पताल गई। टेस्ट करवाया और दवाइयां लेकर घर आ गई। तीसरे दिन डॉक्टर ने फोन पर बताया कि रिपोर्ट पॉजिटिव है। पति धर्मपाल चौधरी को बताया तो वह परेशान हो गए। पति की उम्र 65 वर्ष और मेरी 60 वर्ष है।

पति ने बेटे, बहू, पोते और पोती को मेरी रिपोर्ट के बारे बता दिया। बच्चों को बताना जरूरी था ताकि वह एहतियात बरतें। बेटे और बहू ने बड़े आत्म विश्वास से कहा कि कोई बात नहीं। रिपोर्ट पॉजिटिव है तो क्या हुआ। हौंसला दिया कि घबराना नहीं, मुकाबला करना है। बेटे और बहू ने 10 दिन खूब सेवा की।

पोता और पोती ने खाने-पीने का ध्यान रखा। समय पर दवाई, फ्रूट, जूस, गर्म पानी, खाना देते रहे। इन 15 दिनों में किसी ने भी कोई बुरी खबर मुझे नहीं बताई। बेटा जब भी बात करता था तो बताया करता था कि आज इतने मरीज ठीक हुए हैं। इन 15 दिनों में घर का माहौल बदल गया है। अब मैं बिलकुल ठीक हूं, लेकिन पति की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई थी।

हालांकि वह भी अब ठीक हैं। हम दोनों को न ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी न अस्पताल जाने की। डॉक्टरों ने घर आकर ही दवाइयां दी थी। समय-समय पर डॉक्टर फोन कर तबियत का हाल जानते रहते थे।

41वीं साल गिरह मना रहे चौधरी दंपति, बाेलीं-मरीज को अनदेखा न करे हौंसला दें

अनिता चौधरी ने बताया कि आज उनकी 41वीं सालगिरह है। आज का दिन इसलिए भी खास है कि दोनों कोरोना को हराकर नई जिंदगी जी रहे है। उन्होंने बताया कि 19 साल की उम्र में उनकी शादी हुई थी। तब से आज तक किसी बीमारी का इतना खौफ नहीं देखा। भगवान का शुक्र है कि 41वीं साल गिरह मना रहे है।

अनिता चौधरी वार्ड 2 की पार्षद रही हैं। इसके अलावा वह भाजपा महिला मोर्चा की जिला उपाध्यक्ष भी हैं। उनकी एक भजन मंडली भी है। जिसके कारण लोगों से मेलजोल ज्यादा है। अनिता ने बताया कि सभी ने फोन कर हौंसला बढ़ाया। उन्होंने कहा कि मरने के बाद किसी की अच्छाई या बुराई करने से अच्छा है जीते जी उसका हौंसला बढ़ाएं। कोरोना से लड़ाई मुश्किल है नामुमकिन नहीं। पूर्व पार्षद अनिता चाैधरी, नारायणगढ़ कोरोना वॉरियर

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें