पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Suicide Case Of Army Account Clerk; Police Investigation Rests On Recruitment, Interest And Chit Committee Angle

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जांच जारी:सेना के अकाउंट क्लर्क का सुसाइड केस; भर्ती, ब्याज व चिट कमेटी एंगल पर टिकी पुलिस जांच

अम्बाला12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बिजेंद्र सिंह का फाइल फाेटाे - Dainik Bhaskar
बिजेंद्र सिंह का फाइल फाेटाे
  • स्टेशन सेल में कैंटोनमेंट बोर्ड की एजेंसी के जरिए 2019 में रखे थे 100 अनुबंधित कर्मी, तब आई थी भर्ती के नाम पर पैसे लेने की शिकायतें

आर्मी के सब एरिया हेडक्वार्टर के स्टेशन सेल में तैनात सिविलियन अकाउंट क्लर्क बिजेंद्र सिंह (44) के सुसाइड केस की जांच कैंट पुलिस ने शुरू कर दी है। बिजेंद्र के दो सुसाइड नोट में 18 लोगों के नामों का जिक्र है। प्रारंभिक जांच में सामने आ रहा है, ऐसे लोगों की लिस्ट लंबी है, जिनको किसी न किसी रूप में बिजेंद्र से पैसा लेना था।

यह पूरा मामला वर्ष 2019 में कैंटोनमेंट बोर्ड में अनुबंध आधार पर हुई भर्तियों से भी जुड़ता दिख रहा है। कुछ ऐसे लोग भी पुलिस के संपर्क में आए हैं, जिनका कहना है कि भर्ती के नाम पर पैसे लिए गए। बोर्ड ने एक एजेंसी के जरिये अनुबंध आधार पर 100 चतुर्थ श्रेणी कर्मियों की भर्ती की थी। ये कर्मी उसी स्टेशन सेल में लगे, जिसमें बिजेंद्र सिंह क्लर्क था।

कैंटोनमेंट बोर्ड के पार्षद एवं पूर्व उपाध्यक्ष वीरेंद्र गांधी ने बताया कि बोर्ड ने मुंबई की एक एजेंसी को साल 2019 में भर्ती का ठेका दिया था।एजेंसी ने बोर्ड में पहले से ही काम कर रहे कई अस्थाई कर्मियों को हटाकर नए रखने शुरू कर दिए थे। तब ऐसी शिकायतें आईं थी कि नए कर्मी रखने के नाम पर कुछ लोग पैसा ले रहे हैं।

गांधी कहते हैं कि कुछ कर्मचारियों ने उन्हें बताया था कि एजेंसी पैसे लेकर कर्मचारी रख रही है तो मामले की शिकायत कैंटोनमेंट बोर्ड के सीईओ से की थी। यह विवाद उठने के बाद बोर्ड ने एक कर्मचारी की सीट भी बदल दी थी। उस वक्त नौकरी पर रखने के नाम पर पैसे के लेन-देन का एक ऑडियो वायरल हुआ था। ऐसे आरोप लगे थे कि स्टेशन सेल और बोर्ड से जुड़े कुछ कर्मी या उनके नाम पर भी भर्ती के लिए पैसों की सेटिंग की गई थी। चर्चाएं तो यहां तक थी कि कई लोगों ने आगे भी बहुत से लोगों से भर्ती कराने का झांसा देकर पैसे बटोर लिए थे।

इधर, बुधवार को बिजेंद्र का अंतिम संस्कार उनके जींद के पैतृक गांव जामनी में कर दिया गया। परिजन अभी वहीं हैं। उल्लेखनीय है कि सोमवार आधी रात को बिजेंद्र ने अपने आनंद नगर-ए स्थित घर में जहर खा लिया था। चंडीगढ़ के अस्पताल में मौत हो गई थी। परिवार में 38 वर्षीय पत्नी सुनीता, 17 साल का बेटा व 15 साल की बेटी हैं। पत्नी की शिकायत पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज हुआ है।

ऑफिस के 3 सहयोगियों को भी जिम्मेदार ठहराया

बिजेंद्र को आत्महत्या के लिए मजबूर करने के मामले के जिन 18 लोगों पर केस दर्ज हुए है, उनमें से 3 बिजेंद्र के अपने ऑफिस के ही हैं। इनमें अकाउंट क्लर्क राम शंकर, कृष्ण व डिस्पैचर अशोक के नाम है। राम शंकर का कहना है कि बिजेंद्र ने पैसे की सख्त जरूरत बताकर कई महीने पहले उससे सवा 3 लाख रुपए उधार लिए थे। वादा किया था कि 2 महीने में लौटा देगा।

करीब तीन महीने पहले पैसे वापस मांगे तो बिजेंद्र ने पीएनबी और एसबीआई अकाउंट के डेढ़-डेढ़ लाख रुपए के दो चेक दे दिए थे। लेकिन इन पर तारीख 15 फरवरी 2021 की डाली थी। इससे पहले ही बिजेंद्र ने यह कदम उठा लिया। राम शंकर का कहना है कि बिजेंद्र के ऊपर कोई दबाव नहीं बनाया। इतना जरूर था कि बाहर के कई लोग उनके ऑफिस में आकर बिजेंद्र से अपने पैसे वापस मांगते थे। उसे नहीं पता कि बिजेंद्र पैसे का क्या करता था।

अशोक ने अपनी गारंटी पर 13 लाख दिलाए

सुसाइड नोट में बिजेंद्र सिंह ने अशोक का भी जिक्र किया है। अशोक भी स्टेशन सेल में डाक डिस्पैच का काम करता है। ऑफिस में चर्चा है कि अशोक ने एक बैंक के कैशियर से अपनी गारंटी पर करीब 13 लाख रुपए बिजेंद्र को दिलवाए थे। यह रकम क्यों ली गई, पुलिस इसकी जांच करेगी।

भर्ती, कमेटियों व ब्याज, सभी एंगल की जांच होगी: एसएचओ विजय

मामले की गहनता के साथ और सभी पहलुओं पर जांच पड़ताल की जा रही है। अभी किसी आरोपी की कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है, पैसे के लेन-देन के मामले में आरोपियों के बयान दर्ज किए जाएंगे और बिजेंद्र के परिजनों से भी पूछताछ करेंगे। अब मामला भर्ती से जुड़ा है या फिर चिट कमेटियों या ब्याज पर पैसे लेने-देने का है, यह जांच का विषय है।
विजय कुमार, एसएचओ, कैंट थाना पुलिस

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser