पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जमानत याचिका पर सुनवाई आज:घर से सोने की ईंटें निकालने का झांसा दे 9 लाख ठगने के आरोपी का 11 साल बाद कोर्ट में सरेंडर

अम्बाला11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ठगने के आरोपी का 11 साल बाद कोर्ट में सरेंडर - Dainik Bhaskar
ठगने के आरोपी का 11 साल बाद कोर्ट में सरेंडर
  • जसबीर सिंह को कोर्ट ने साल 2010 में भगोड़ा घोषित किया था, ढोंगी टोपी बाबा व रिश्तेदार को पुलिस पहले ही पकड़ चुकी

गांव पंजोखरा निवासी सेना से रिटायर्ड हवलदार गुरचरण सिंह को घर में दबी सोने की ईंटें निकलने का झांसा देकर 9 लाख ठगने का आरोपी अब पुलिस की पकड़ में आया है। गांव मंडोखरा निवासी जसबीर सिंह सैनी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है, जहां से पंजोखरा पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। वीरवार को आरोपी की जमानत याचिका पर सुनवाई होनी है। तीन आरोपियों ने 14 साल पहले यमुनानगर से पीतल की ईंट पर सोने की परत चढ़वाकर ठगी की थी।

2007 का मामला, पंजोखरा के रिटायर्ड हवलदार गुरचरण सिंह को घर में सोने की ईंटें दबी होने का दिया था लालच, यमुनानगर से पीतल की ईंटों पर चढ़वाई थी सोने की परत

रिटायर्ड हवलदार गुरचरण सिंह ने बताया कि इस धोखाधड़ी में उनका रिश्तेदार गांव मंडोखरा बबैन निवासी दर्शन सिंह भी शामिल है। जिस पर धोखाधड़ी व अन्य 55 केस दर्ज हैं। दोनों आरोपी साल 2007 में एक टोपी वाले बाबा को लेकर उसके घर आए थे। तब बाबा ने बताया था कि उनके घर में सोने की ईंटें दबी हुई हैं। वह उनकी बातों में आ गया।

बाबा ने ईंटें निकालने का खर्च 9 लाख रुपये बताया था और पैसे भी तब देने को कहा था जब वह ईंटों को सुनार से चेक करा लेंगे। उनकी बातों में आकर उन्होंने अपने दोस्त से 3 लाख रुपये ब्याज पर लिए थे और बाकी की रकम के लिए बैंक से लोन ले लिया था।

पेमेंट का इंतजाम होने के बाद सर्दियों में टोपी वाले बाबा के साथ दर्शन सिंह और जसबीर सिंह पहुंचे। गुरचरण सिंह ने बताया कि तीनों आरोपी शाॅल में घर आए थे। इसके बाद टोपी वाले बाबा ने ढोंग रचना शुुरू कर दिया। इसके बाद मकान में एक जगह कस्सी से खुदवानी शुरू करवा दी। जब गड्ढा गहरा खुद गया तो टोपी वाला बाबा ने उन्हें दूध लाने के लिए भेज दिया।

गुरचरण सिंह जब दूध लेकर लौटे तक आरोपियों ने गड्ढे में 3 ईंटें छुपा दी थी। इसके बाद आरोपियों ने गड्ढे से तीन ईंटें निकल कर इसे सोने की बताया था। बाबा ने एक ईंट से खुरच कर एक परत उतारी और उसे सुनार से चेक कराने के लिए कहा। चूंकि, वह परत ही सोने के पानी से चढ़ी थी इसलिए गुरचरण ने जिस सुनार से उसे चेक कराया उसने भी उसे असली बता दिया।

ढोंगी टोपी बाबा ने 9 लाख रुपये लेकर कहा कि 40 दिन तक ईंट को गड्‌ढे से बाहर नहीं निकालना नहीं तो यह मिट्‌टी की बन जाएगी। उन्होंने जब 40 दिन बीत जाने के बाद ईंटें निकाल कर चेक करवाईं तो वह पीतल की निकलीं। तो उन्हाेंने खुद को ठगा सा महसूस किया और रिश्तेदार दर्शन से फोन पर संपर्क किया। दर्शन सिंह ने न तो फोन उठाया और न ही उसके पैसे लौटाए।

इसलिए उन्होंने 19 जनवरी 2007 को दर्शन सिंह, जसबीर सिंह समेत टोपी वाले बाबा के खिलाफ जालसाजी करके धोखाधड़ी करने, जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज करवाया था लेकिन आरोपियों को आज तक पुलिस पकड़ नहीं पाई है।

एक आरोपी जसबीर सिंह को कोर्ट साल 2010 में भगोड़ा घोषित कर चुकी है, जिसे पकड़ने के लिए पुलिस ने उसके घर पर 2 दिन पहले छापेमारी की थी। इसी के चलते आरोपी ने बुधवार को कोर्ट में सरेंडर कर दिया। इस मामले में पुलिस ढाेंगी टोपी बाबा व रिश्तेदार गुरदर्शन को पहले ही पकड़ चुकी है।

25 लाख का कर्ज उतारने के लिए जमीन बेचनी पड़ी

गुरचरण सिंह ने बताया कि उन्होंने गांव में अपनी जमीन बेचकर पंजाब एरिया में जमीन खरीदने की योजना बना रखी थी यह बात उनके रिश्तेदार दर्शन को पता थी, इस कारण उसने ठगी का खेल रचा। इसलिए उसने खेल रचना। इस 9 लाख का कर्ज ब्याज समेत 25 लाख का हो गया था जिसे उतारने के लिए उसे अपनी पूरी जमीन बेचनी पड़ी। जमीन बेचकर उसने दोस्त और बैंक का करीब 25 लाख का लोन उतारा और दो बेटियों की शादी भी की थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें