पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विभागीय प्रक्रिया:10 साल बाद निकला नगर निगम में मैन पावर का टेंडर

अम्बालाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नगर निगम ने 4.50 करोड़ की टर्नओवर की शर्त रखी, एजेंसी को 2 मैनेजर की भी नियुक्ति करनी हाेगी
  • मेयर शक्ति रानी ने कमिश्नर को लिखा लेटर- टेंडर हाउस से पारित कराकर ही लगाए जाएं

नगर निगम ने एक बार फिर हाउस में टेंडर पारित न कराकर सीधे तौर पर लगा लिए। इस बार 10 साल बाद फिर से नई एजेंसी को निगम में 73 पदों की मैन पावर देने के लिए टेंडर निकाला गया है। इसलिए नगर निगम की मेयर शक्ति रानी शर्मा ने कमिश्नर पार्थ गुप्ता को लेटर लिखकर स्पष्ट शब्दों में कहा कि जब तक हाउस विकास कार्यों के टेंडर पारित नहीं कर देता, तब तक टेंडर न लगाए जाएं।

नगर निगम ने 10 साल पहले जिस एजेंसी को टेंडर दिया था, उसी एजेंसी को हर बार उसके काम बेहतर मानते हुए एक्सटेंड कर रहा था, लेकिन इस बार निगम ने फिर से टेंडर लगाया है। यह जरूर है कि इस टेंडर में कुछ शर्तों को बदला गया है, ताकि ज्यादा एजेंसियां टेंडर न भरें। पहले एक-एक करोड़ की टर्नओवर 3 साल की मांगी जाती रही है।

इस बार नगर निगम ने 4.50 करोड़ की टर्नओवर की शर्त रखी है। यही नहीं एजेंसी को 2 मैनेजर की भी नियुक्ति करनी है, जिनकी योग्यता एमबीए है। जो नगर निगम से समन्वय बनाकर रखेंगे। अगर नई एजेंसी को टेंडर अलाॅट होता है तो निगम में रखे कई कर्मियों की इस बार छंटनी होने की संभावना है, क्योंकि एजेंसी अपने आदमियों को ही रखेगी, जोकि उसके विश्वासपात्र हों। जबकि वर्तमान एजेंसी ने नगर निगम से 16 कर्मियों को निकाला तो वह आज तक कमिश्नर ऑफिस के बाहर दरी बिछाकर धरना दे रहे हैं।

यह है मैन पावर

नगर निगम ने कंप्यूटर क्लर्क, सेनेटरी इंस्पेक्टर, 4 ड्राफ्ट्समैन, सहायक सेनेटरी इंस्पेक्टर, पटवारी, लीगल सहायक, कार जीप ड्राइवर, 4 मोटिवेटर, 24 पियोन, 5 वर्क सुपरवाइजर, 2 इलेक्ट्रीशियन, 2 हैवी व्हीकल ड्राइवर, लाइट व्हीकल ड्राइवर, 6 ट्रैक्टर ड्राइवर, 2 रिफ्यूज काम्पैक्टर ड्राइवर, 3 क्लीनर, माली, हेल्पर के लिए टेंडर निकाले हैं।

पार्षद बाेले-1 करोड़ से ज्यादा का टेंडर हाउस में पारित होना जरूरी

पार्षद राजेश मेहता, अमनदीप कौर ने कहा कि नगर निगम हाउस में प्रस्ताव पारित किए बिना ही टेंडर निकाल रहा है। उन्होंने कहा कि एक करोड़ से ज्यादा का टेंडर हाउस ही पास कर सकता है। उसके बाद ही नगर निगम उस टेंडर को आमंत्रित कर सकता है। उन्होंने कहा कि आगामी हाउस की मीटिंग में इस मुद्दे को उठाया जाएगा।

कमिश्नर को टेंडर हाउस में पारित करने के बाद आमंत्रित करने के लिए लेटर लिखा है, ताकि हाउस की मर्यादा बनी रहे। उम्मीद है कि कमिश्नर इस तरफ ध्यान देंगे। -शक्ति रानी शर्मा, मेयर, नगर निगम, सिटी

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

    और पढ़ें