पंजाब पुलिस का दावा:कैंट में आईओसी डिपो के नजदीक से पकड़ा गया आंतकी, अम्बाला पुलिस बोली- हमें जानकारी नहीं, हमसे किसी ने मदद भी नहीं मांगी

अम्बालाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रुबल सिंह को लेकर जाती पंजाब पुलिस की टीम। - Dainik Bhaskar
रुबल सिंह को लेकर जाती पंजाब पुलिस की टीम।
  • तेल के टैंकर में टिफिन बम के जरिए करते थे वारदात, पंजाब में आतंकियों से पकड़े जा चुके हैं टिफिन बम

आईएसआई मोड्यूल के चार आतंकी में से एक आतंकी पंजाब के गांव भाखातारा निवासी रुबल सिंह अम्बाला कैंट से पकड़ा गया है। इस बात का दावा पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया है। पंजाब डीजीपी के मुताबिक आतंकी को अम्बाला से मंगलवार शाम को पांच बजे पकड़ा गया था, जबकि इसके तीन साथी इनके गांव अजनाला (पंजाब) से पकड़े गए थे। अम्बाला से पकड़ा गया आतंकी रुबल सिंह पंजाब में एक सितंबर को हुई एक हत्या के मामले में भी वांछित था।

वहीं, अम्बाला पुलिस ने इस मामले में कोई पुष्टि नहीं की है। सूत्रों के मुताबिक रुबल सिंह आईओसी डिपो के आसपास घूमता पाया गया, जोकि अति संवेदनशील क्षेत्र है। यह आतंकी इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन से जुड़ा हुआ है, जिन्हें पाकिस्तान में बैठे उसके आईएसवाईएफ चीफ लखबीर सिंह रोडे दिशा-निर्देश दे रहा था। इससे पहले इन आतंकी का एक साथी गुरमुख बराड़ 20 अगस्त को कपूरथला से भी पकड़ा जा चुका है। इन आतंकियों का एक बड़ी वारदात को अंजाम देने का मकसद था, जिन्हें पुलिस ने छह दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है। अम्बाला से गिरफ्तार आतंकी से क्या बरामदगी हुई है इसका अभी कुछ भी पता नहीं चल पाया है।

जानकारी के मुताबिक आरोपी ने 8 अगस्त को अपने गांव में आईईडी टिफिन बम से तेल टैंकर को उड़ाने की कोशिश की थी। इस टिफिन बम में एक पेन ड्राइव लगी हुई थी और एक वीडियो भी दी गई थी जिसमें आतंकी वारदात को किस तरह से अंजाम देना है, उसकी पूरी जानकारी थी। बताया जा रहा है कि यह आतंकी टाइमर सेट करके टिफिन बम आईडीडी लगा देते थे। इस टिफिन में आरडीएक्स भरा होता था और इसमें अलग-अलग ट्रिगर प्रणालियां होती है जिनमें कार्यशीलता के लिए स्विच, चुंबकीय और स्प्रिंग शामिल होता है।

आईओसी डिपो के सामने खड़े होते थे तेल के टैंकर
अम्बाला में शास्त्री काॅलाेनी के पास जीटी राेड पर आईओसी को तेल का डिपो है जिसके सामने काफी संख्या में तेल के टैंकर खड़े होते थे। लेकिन डिपो से तेल की सप्लाई फिलहाल विवाद के चलते कम कर दी गई है। इसलिए अब यहां पर तेल के टैंकर ज्यादा मात्रा में नहीं खड़े होते। पंजाब पुलिस के अनुसार यही वजह है कि अम्बाला से पकड़े गया आतंकी भी वारदात को अंजाम नहीं दे पाया है। हालांकि इस सूचना से तेल टैंकर चालकों व संचालकों में हड़कंप मचा हुआ है। उधर, आईओसी डिपो क्षेत्र के पड़ाव थाना प्रभारी ने कहा कि पंजाब पुलिस ने न तो हमें बताया है और न हमसे कोई सहायता मांगी है। इसलिए उनके पास मामले की कोई जानकारी नहीं है।

खबरें और भी हैं...