• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • The Dead Body Was Found In A Rotten Condition From The Closed House Of A Bengali Doctor, The Clinic Was Also Closed For A Long Time.

खाली मकान में मिला शव:बंगाली डॉक्टर के बंद मकान से गली-सड़ी हालत में शव मिला, क्लीनिक भी काफी समय से बंद

अम्बाला5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुंदर नगर में बंगाली डॉक्टर का मकान जहां शव मिला। - Dainik Bhaskar
सुंदर नगर में बंगाली डॉक्टर का मकान जहां शव मिला।

कैंट रेलवे कॉलोनी के पास सुंदर नगर में एक बंद पड़े मकान से शव मिला है। शव की शिनाख्त तो दूर गला-सड़ा होने की वजह से यह भी पता नहीं चल पाया कि यह पुरूष का है या महिला का। इस घर में रहने वाले करीब 32 वर्षीय तुषार को भी लोगों ने दो-ढाई महीने से नहीं देखा है। तुषार सेवा समिति स्कूल के पास किराये की दुकान में बंगाली क्लीनिक चलाता था। शव मिलने के बाद पुलिस क्लीनिक पहुंची तो वह भी बंद मिला।

कब आबादी वाले एरिया में बने इस घर के पास ही चर्च है। जिसमें क्रिसमस पर सजाने के लिए रोशनी की लड़ियां लगाने का काम किया जा रहा था। एक युवक लड़ियां लगाने छत पर चढ़ा तो इस बंद मकान से काफी दुर्गंध आई। जिसके बाद पड़ाव पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो मकान में लोहे के गेट पर अंदर से ताला लगा हुआ था और बाहर शटर का ताला जड़ा था। पुलिस को शटर का ताला तोड़कर अंदर जाना पड़ा।

कमरे में बेड के नीचे एक साइकिल पड़ी हुई थी, इसके अलावा बेड भी टूटा हुआ था। इस मकान के बाहर तो पलस्तर हो रखा है लेकिन अंदर पलस्तर नहीं है। कुछ हिस्से पर छत भी नहीं है। इसके बाद गले-सड़े शव को एक बिस्तर की चादर में बांध कर सिविल अस्‍पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है। कॉलोनी में रहने वाले लोगों का कहना है कि बंगाली क्लीनिक चलाने वाले तुषार को दो-ढ़ाई माह से कॉलोनी में नहीं देखा है।

कुछ समय पहले ही उसके साथ एक महिला रहने आई थी। जिसे लोग उसकी पत्नी मानते थे। कॉलोनी के लोगों ने ही महिला को कुछ समय तो देखा लेकिन बाद में वह भी दिखाई नहीं देती थी। लोगों का यह भी कहना था कि तुषार कई बार हुड़दंग मचाता था तो पुलिस कई बार उसे समझाने के लिए भी पहुंची थी।
2014 में बना था मकान
यह मकान साल 2014-15 के बीच में तैयार किया है। चर्च के पास्टर का कहना है कि चर्च के साथ-साथ मकान तैयार हुआ है। पास्टर ने बताया कि चर्च रविवार के दिन ही खुलती है, या फिर किसी विशेष मौके पर चर्च को सजाया जाता है। अब क्रिसमस के मौके पर ही चर्च को सजाते वक्त बदबू आई तो इसका पता चला था।

खबरें और भी हैं...