• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • The Person Had High Fever And Abdominal Pain For Three Days, The Family Said: Dengue Was In The Private Lab Report

अंबाला में डेंगू संदिग्ध की मौत:तीन दिन से था तेज बुखार और पेट दर्द, परिजन बोले- निजी लैब की रिपोर्ट में आया था डेंगू पॉजिटिव

अंबालाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अंबाला जिले में बेकाबू डेंगू के मरीजों का आंकड़ा 435 पहुंच गया है। जिले में शुक्रवार को डेंगू से संदिग्ध मौत का मामला सामने आया है। धनतेरस से बुखार और पेट दर्द होने के बाद अंबाला शहर निवासी लक्ष्मण (40​​​) ने कैंट सिविल अस्पताल में शुक्रवार देर शाम दम तोड़ दिया।

परिजनों का कहना था कि लक्ष्मण अकेला रहता था और जलेबी की रेहड़ी लगाता था। धनतेरस पर उसे काफी तेज बुखार हुआ था। दिवाली वाले दिन प्राइवेट लैब में टेस्ट करवाया तो डेंगू की पुष्टि हुई थी। प्लेटलेट्स करीब एक लाख तक पहुंच गए थे। बुखार व पेट में दर्द ज्यादा होने के कारण उपचार के लिए अंबाला शहर ट्रामा सेंटर में दाखिल करवाया था। बावजूद कोई सुधार न होने के कारण वह अपने स्तर पर अंबाला कैंट सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे। इस दौरान लक्ष्मण की मौत हो गई। हालांकि कैंट सिविल अस्पताल के डॉक्टर को परिजन बीमारी का कोई दस्तावेज नहीं दिखा पाए।

सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम रूम के बाहर खड़े लक्ष्मण के दोस्त व भाई।
सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम रूम के बाहर खड़े लक्ष्मण के दोस्त व भाई।

परिजनों का तर्क था कि लक्ष्मण ने ही प्राइवेट लैब की टेस्ट रिपोर्ट रखी थी और उन्हें वह नहीं मिली। डॉक्टरों ने संदिग्ध मौत मानते हुए पोस्टमार्टम करवाने के लिए इलाका पुलिस को सूचित कर दिया। मृतक के भाई रामानंद ने बताया कि वह मूल रूप से उत्तरप्रदेश के मऊ जिला निवासी है। लक्ष्मण सहित वह पांच भाई है। लक्ष्मण अंबाला शहर के मानव विहार में अपने दोस्तों के संग रहता था। सूचना मिलने के बाद वह मऊ से अंबाला पहुंचे हैं। बुखार के बाद प्राइवेट लैब की रिपोर्ट में डेंगू की पुष्टि हुई थी।

मृतक लक्ष्मण का आधार कार्ड
मृतक लक्ष्मण का आधार कार्ड

अंबाला शहर सिविल अस्पताल में उपचार के बावजूद लक्ष्मण की हालत बिगड़ रही थी। डॉक्टर द्वारा भी उपचार दिए जाने की बात बोलकर लौटा दिया जाता है। यही कारण था कि उनके साथी अपने स्तर पर छुट्‌टी करवाकर लक्ष्मण को अंबाला कैंट सिविल अस्पताल ले आए थे ताकि और बेहतर उपचार मिल सके। अभी डॉक्टर उपचार शुरू कर पाते कि उससे पहले ही लक्ष्मण ने दम तोड़ दिया। इमरजेंसी मेडिकल डॉक्टर भीष्म ने बताया कि उनके पास आने से पहले ही मरीज की मौत हो चुकी थी। साथ ही लोग भी कोई प्राइवेट लैब की रिपोर्ट संबंधित दस्तावेज नहीं दिखा पाए थे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।

मोबाइल में लक्ष्मण की फोटो दिखाते हुए परिजन
मोबाइल में लक्ष्मण की फोटो दिखाते हुए परिजन

दिवाली व विश्वकर्मा डे पर आए थे डेंगू के 29 मामले

त्योहारी सीजन के बीच डेंगू मरीजों का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार देरशाम तक दिवाली व विश्वकर्मा डे के मरीजों को मिलाकर कुल 29 मरीज सामने आए। इस मरीजों से जिले में डेंगू मरीजों का आंकड़ा 435 तक पहुंच गया। यह मरीज नारायणगढ़, शहजादपुर, साहा, दुखेड़ी, अंबाला शहर व कैंट में सामने आए। 20 से लेकर 55 साल तक के लोग इसकी चपेट में आए हैं। उधर, अस्पतालों में भी डेंगू मरीजों के साथ-साथ संदिग्ध बुखार के मरीजों की संख्या भी बढ़ती जा रही है।