हार्टअटैक से कुली की माैत:कुलियों ने स्टेशन परिसर में शव रख जताया राेष

अम्बालाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मुआवजे व मृतक के परिजन को नौकरी की मांग को लेकर कैंट स्टेशन पर विरोध जताते कुली। - Dainik Bhaskar
मुआवजे व मृतक के परिजन को नौकरी की मांग को लेकर कैंट स्टेशन पर विरोध जताते कुली।
  • मुआवजे व नौकरी की मांग काे लेकर कुली स्टेशन डायरेक्टर और गृहमंत्री से मिले

कैंट रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 3 पर कुली बनवारी लाल मीणा की हार्ट अटैक से मौत हो गई। मीणा के परिजनाें काे मुआवजा व एक सदस्य काे नाैकरी की मांग काे लेकर कुलियाें ने रोष जताया। शनिवार को कैंट सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद कुली के शव को रेलवे स्टेशन परिसर में रखा गया। कुलियाें ने कहा कि जब तक उनकी सुनवाई नहीं होगी, तब तक शव को यहां से नहीं ले जाया जाएगा। इसके बाद कुली स्टेशन डायरेक्टर से भी मिले।

यूआरएमयू ब्रांच सचिव राजेंद्र मीणा, कुली चन्नी सिंह, शंकर ने बताया कि शुक्रवार दोपहर 3 बजे हमसफर एक्सप्रेस प्लेटफार्म नंबर 3 पर पहुंची थी जिसमें जाने वाले यात्री का सामान कुली बनवारी जैसे ही प्लेटफार्म नंबर 3 पर लेकर पहुंचा और ट्रेन में चढ़ाया तो उसे अचानक कुली प्लेटफार्म पर गिर गया। जब उसे सिविल अस्पताल में लेकर गए तो डाॅक्टर ने बनवारी को मृत घोषित कर दिया। बनवारी की मौत की वजह डाॅक्टरों ने हार्टअटैक बताई है।

मौत के बाद सभी कुलियों ने स्टेशन अधिकारियों से बातचीत की। संतोषजनक जवाब न मिलने पर शनिवार देर रात को स्पेशल रेलवे मजिस्ट्रेट हरियाणा के सामने एकजुट होकर रोष जताया। कुलियों ने कहा कि हरियाणा सरकार श्रमिक की मौत पर परिजनों को मुआवजा देती है लेकिन रेलवे रजिस्टर्ड कुलियों को मुआवजा देने से पीछे हट रहा है।

मीणा स्टेशन पर करीब 12 साल से काम कर रहा था। कम से कम मृतक के वारिसों को कुली की जॉब मिलनी चाहिए। विवाद बढ़ने पर कैंट जीआरपी भी पहुंची। इसके बाद कुलियों को जीआरपी ने एक मेमो बनाकर दिया। उधर, सभी कुली स्टेशन डायरेक्टर बीएस गिल से मिले। संतोषजनक जवाब न मिलने पर कुली एकजुट होकर गृहमंत्री अनिल विज के आवास पर भी पहुंचे और अपनी बात रखी। उधर, शनिवार दोपहर को परिजन कुली के शव को लेकर राजस्थान में दौसा के गांव मऊखेड़ा जाने के लिए एंबुलेंस में रवाना हुए।

खबरें और भी हैं...