• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • There Is No Effect Of Government And District Administration Restrictions, The Air Was Not Breathable On The Night Of Diwali

पटाखे खूब बिके भी और बजे भी:सरकार और जिला प्रशासन की पाबंदी का कोई असर नहीं, दिवाली की रात को हवा सांस लेने लायक नहीं रही

अम्बाला22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कैंट के कबाड़ी बाजार में दुआ कम्युनिकेशन शॉप और ऊपर होटल में लगी आग को देखते लोग। (नीचे)सुबह जली बिल्डिंग का दृश्य। - Dainik Bhaskar
कैंट के कबाड़ी बाजार में दुआ कम्युनिकेशन शॉप और ऊपर होटल में लगी आग को देखते लोग। (नीचे)सुबह जली बिल्डिंग का दृश्य।
  • पुलिस मूकदर्शक, बाजारों में घूमती रही पुलिस, न बेचने वालों को रोका न जलाने वालों को, शुक्रवार रात को भी खूब पटाखे जले, आतिशबाजी हुई
  • 16 जगह लगी आग, 14 लोग जख्मी हुए

सरकार और जिला प्रशासन के प्रतिबंधों के बावजूद जिले में खूब पटाखे बिके। खूब पटाखे जले व आतिशबाजी हुई। दिवाली की रात पुलिस ने बाजारों में गश्त की लेकिन सबकुछ देखते हुए भी अनदेखा किया। जिले में पटाखे बेचने और जलाने पर कोई केस दर्ज नहीं हुआ।

इसका असर ये रहा कि वीवार की शाम तक जो आवोहवा सामान्य थी, वह देर रात और शुक्रवार सुबह बिगड़ गई। इन पटाखों के धुंए ने एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 184 से 412 तक पहुंच गया। दिवाली की रात से पूर्व दिन में एक्यूआई 154 था। 300 के स्तर से ऊपर का एक्यूआई खतरनाक श्रेणी में माना जाता है। कैंट-सिटी में 16 जगह आग लगने की घटनाएं भी हुई। कुल 14 लोग जिन्में कई बच्चे भी थे, जख्मी हुए।

अंबे हार्डवेयर स्टाेर में रात 2 बजे आग लगी, साइड से दीवार ताेड़कर बुझाई

सिटी नाैरंगराय तालाब के पास अंबे हार्डवेयर स्टाेर में शार्ट सर्किट से रात 2 बजे आग लग गई। आग लगने की सूचना मिलते ही स्टाेर मालिक माैके पर पहुंचे। सूचना के बाद माैके पर पहुंचे फायर ब्रिगेड कर्मचारियाें ने स्टाेर की साइड से दीवार ताेड़ी। इसके बाद सुबह 5 बजे तक आग बुझाई जा सकी। ग्राउंड फ्लाेर से लेकर फर्स्ट फ्लाेर तक रखा सामान जलकर राख हाे गया। सुबह दुकान में आग लगी देख आसपास के दुकान भी एकत्रित हाे गए।

अंबे हार्यवेयर स्टाेर ऑनर नीरज गंभीर ने बताया कि मार्केट में चाैकीदार रखा हुआ है। चाैकीदार ने रात 2 बजे उन्हें सूचना दी कि स्टाेर में आग लगी हुई है। जब वह दुकान पर पहुंचे ताे नीचे ग्राउंड फ्लाेर पर आग लगी हुई थी। इसके बाद आग फर्स्ट फ्लाेर पर चली गई। फर्स्ट फ्लाेर पर स्टाॅक रखने के लिए गाेदाम बनाया हुआ था,, इसलिए फर्स्ट फ्लाेर पर आग बुझाने में सबसे ज्यादा टाइम लगा। फायर ब्रिगेड कर्मचारियाें ने ऊपर बने फर्स्ट फ्लाेर की दीवार ताेड़कर आग काे बुझाया। स्टाेर में फेविकाॅल समेत हाॅर्डवेयर का अन्य सामान था।

नुकसान. पटाखों से इन 13 जगह भी लगी आग

जिले में दिवाली पर 16 जगहाें पर पटाखाें के कारण आग लगने की घटनाएं सामने आई। 1-2 जगहाें पर शाॅर्ट सर्किट से भी आग लगी। फायर ब्रिगेड ने माैके पर जाकर आग पर काबू पाया।

सिटी की बात करें ताे मित्तल अस्पताल के पास खाली प्लाॅट, कुष्ठ आश्रम के पास झाड़ियाें, एक खाली प्लाॅट व मैदान में घास में, जैन नगर में खाली प्लाॅट, एक चिकन दुकान में भी आग लग गई, जिससे सामान जल गया। कैंट में रेलवे कॉलोनी डीआरएम ऑफिस के पास पार्क, पार्क की दीवार नजदीक पीर बा‌बा के पास झाड़ियों, बीडी फ्लोर मिल के पीछे अमरपुरी कॉलोनी में मकान, मुलाना रविदास मंदिर के पास गुहारे में, लालकुर्ती में एक मकान की छत पर, बीडी फ्लोर मिल के पीछे एक डेयरी के पास, बब्याल गाेगा माड़ी के पास लकड़ियों में आग लग गई। फायर ब्रिगेड के कर्मचारियाें ने माैके पर जाकर आग काे बुझाया।

खबरें और भी हैं...