गृहमंत्री का जनता दरबार:बेटे, बहन, सास को खोने वाले बोले- हत्यारों को पुलिस ही बचा रही, न्याय नहीं धक्के दे रही

अम्बाला4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गृहमंत्री अनिल विज। - Dainik Bhaskar
गृहमंत्री अनिल विज।
  • प्रदेशभर से आईं मर्डर से जुड़ी कई शिकायतें, सभी में पुलिस पर आरोप

पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस कैंट में गृहमंत्री अनिल विज ने जनता दरबार में प्रदेशभर से आए 2 से 3 हजार लाेगाें की शिकायतें सुनी। पुलिस की कार्रवाई से असंतुष्ट हर किसी ने गृहमंत्री से न्याय मांगा। दरबार में हत्या के कई मामले सामने आए। पीड़ित परिवारों ने खुलकर पुलिस की नाकामी गृहमंत्री के सामने रखी। अपनों काे खोने वालों का कहना था कि पुलिस एफआईआर तो दर्ज कर लेती है लेकिन आगे कार्रवाई नहीं करते। वे लोग भटकते रहते हैं लेकिन न्याय नहीं मिल रहा।

गांव धर्मगढ़ करनाल निवासी जाेगिंद्राें अपनी बहू व पाेते के साथ पहुंची। उसने बताया कि उनके बेटे सतनाम की हत्या कर दी गई। बेटे काे कुछ लाेगाें से 6 लाख रुपए लेने थे। एक रात वे लाेग उसे अपने साथ ले गए और फिर पता चला कि उनके इकलाैते बेेटे काे मार दिया गया। एफआईआर दर्ज है, लेकिन काेई कुछ नहीं कर रहा। आराेपी बार-बार मारने की धमकी देते हैं।

इन आंखों को न्याय का इंतजार : कहीं जमीन के लालच तो कहीं पैसों के लिए ले ली जान

11 साल के बेटे की मौत पर होम्योपैथिक डॉक्टर पर हत्या केस हुआ, लेकिन न्याय नहीं मिला यमुनानगर निवासी संजना ने बताया पिछले साल 24 अक्टूबर काे उसके 11 साल के बेटे काे पेट में दर्द हुअा। पति के फैक्टरी मालिक से मदद मांगी ताे उसने अपने किसी परिचित डाॅक्टर के पास भेज दिया। उस एरिया में काेई डाॅक्टर नहीं है ताे मजबूरन बेटे काे उस डाॅक्टर के पास लेकर जाना पड़ा। सुबह पता चला कि बेटे की डेथ हाे गई। बाद में पता चला कि वाे होम्योपैथिक का डाॅक्टर है। जब बेटे की बाॅडी मिली ताे खून से लथपथ थी। अंग चुराने की आशंका काे देखते हुए डाॅक्टर व कंपनी के मालिक पर हत्या का केस दर्ज करवाया। समय बीत रहा है लेकिन न्याय नहीं मिल रहा।

ससुरालियों ने बहन काे मार डाला
गांव जैनपुरा इंद्री निवासी राेहित ने बताया कि बिलासपुर में ब्याही उसकी बहन पूनम के यहां से 17 अप्रैल काे फाेन आया कि पूनम के पेट में दर्द है। राेहित अपने माता-पिता के साथ बिलासपुर पहुंचा और उसने जीजा काे हाॅस्पिटल का पता पूछने के लिए फाेन किया ताे उसने बताया कि घर पर ही हैं। जैसे ही राेहित माता-पिता के साथ घर पहुंचा ताे बहन मृत अवस्था में पड़ी थी और उसके गले पर निशान थे। उन्हाेंने ससुराल पक्ष पर हत्या करने काे लेकर 19 अप्रैल काे एफआईआर दर्ज करवाई, लेकिन अभी तक कार्रवाई नहीं हुई।

जमीन के लिए बेटे का मर्डर

पंचकूला के माैली गांव से नायक कर्म सिंह ने गुहार लगाई कि जमीन काे लेकर उनके बेटे की हत्या कर दी गई। शिकायत करते हुए वे राेने लगे ताे उनकी बेटी ने बताया कि दादा ताेड़ सिंह ने 4 भाइयाें के नाम जमीन करवा दी थी, लेकिन ताया-चाचा पिता काे परेशान करते हैं। जनवरी 2022 में भाई काे जहर देकर मार दिया। अब कर्म सिंह से मारपीट करते हैं। थाने में केस चल रहा है लेकिन काेई कार्रवाई नहीं करता।

सास की कर दी थी हत्या
पंचकूला के सेक्टर-16 निवासी अनिता अराेड़ा अपने पति ओँकार व बेटी नेहा के साथ पहंुची। उन्हाेंने बताया कि 22 जून 2016 में उनकी सास कृष्णा अराेड़ा घर में अकेली थी। जब घर पहुंचे ताे उनकी हत्या कर दी गई थी। तब से अब तक पुलिस स्टेशन के चक्कर काट रहे हैं, काेई सुनवाई नहीं करता।

खबरें और भी हैं...