• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Two Youths Attacked With A Knife If There Is A Serious Condition, He Himself Was Taken To The Hospital, Threatened To Kill Him If He Told Anyone

अंबाला में युवक पर चाकू से हमला:हालत बिगड़ी तो खुद पहुंचाया अस्पताल, पिता को फोन करके कहा- चिंता न करें, हमारे साथ है

अंबाला6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के अंबाला जिले में रास्ता रोककर युवक पर चाकू से हमला करने तथा हालत बिगड़ने पर हमलावरों द्वारा ही उसे अस्पताल पहुंचाने का मामला सामने आया है। युवक को जीएमसीएच-32 चंडीगढ़ रेफर किया गया, जहां उसका ऑपरेशन भी हुआ, लेकिन हमलावरों ने बेटे को फोन कर रहे पिता को कहा दिया कि चिंता न करें, हमारे साथ है।

लेकिन बेटे पर हमले से अनजान परिजनों के होश तब उड़ गए, जब ऑपरेशन के बाद युवक को होश आया और उसे होश आते ही हमलावर उसे मारने की धमकी देकर फरार हो गए। युवक ने फोन करके पिता को मामले की जानकारी दी। पिता ने पुलिस को बताया और दो आरोपियों के खिलाफ आर्म्स एक्ट सहित विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज ​​​​​​कराया।​

मेडिकल कॉलेज सेक्टर-32 चंडीगढ़ में उपचाराधीन अरुण।
मेडिकल कॉलेज सेक्टर-32 चंडीगढ़ में उपचाराधीन अरुण।

नशे में धुत दो युवकों ने रास्ता रोक किया था

देवी नगर अंबाला सिटी निवासी अरुण पुत्र चांद कुमार ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि 17 मई की रात साढ़े 10 बजे अपने घर जा रहा था। जैसे ही वह घास मंडी अंबाला सिटी के पास पहुंचा तो बाइक सवार रोहित पुत्र शंभू निवासी घास मंडी और उसका दोस्त राहुल पुत्र महिंद्र सिंह खड़े थे। नशे में धुत दोनों युवकों ने उसे रोक लिया और अंधेरे में ले गए। यहां उन्होंने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी और रोहित ने अपनी जेब से चाकू निकालकर उस पर वार कर दिया। चाकू लगने से वह नीचे जमीन पर गिर गया।

हालत गंभीर हुई तो खुद लेकर पहुंचे अस्पताल

अरुण को गंभीर हालत में दोनों हमलावर खुद उसकी बाइक पर बैठाकर सिविल अस्पताल अंबाला सिटी ले गए, यहां डॉक्टरों ने उसे प्राथमिक जांच के बाद चंडीगढ़ मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। वहां भी हमलावर खुद लेकर गए, लेकिन हमलावरों ने उसे यह बात किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी। इसलिए वह तब परिवार को इस बारे में कुछ नहीं बता पाया। इसके बाद ऑपरेशन हो गया और होश में आने पर परिवार को सामने मामले का खुलासा किया।

ऑपरेशन के 4 दिन बाद होश आया

चांद कुमार ने बताया कि 17 मई की रात को रोहित ने फोन करके बोला था कि अंकल मैं अरुण का दोस्त बोल रहा हूं। अरुण हमारे साथ है। किसी अनहोनी की आशंका ने परिजनों ने दोबारा फोन किया तो 18 मई की सुबह पता चला कि अरुण को किसी ने चाकू मारा है। यह सुनते ही परिजन अस्पताल पहुंचे तो रोहित व राहुल ने किसी के द्वारा हमला करने की बात कही।

परिजनों ने बताया कि जब तक वे अस्पताल पहुंचे, तब तक अरुण का ऑपरेशन हो चुका था। 4 दिन बाद अरुण को होश आया तो बताया कि रोहित और राहुल ने उस पर जानलेवा हमला किया है। उन्हें मालूम नहीं कि क्यों राहुल और रोहित ने अरुण पर हमला किया है। अरुण ने उसे बताया था कि वे युवक पहले भी मारपीट कर चुके हैं। वहीं राहुल-रोहित मौका पाकर फरार हो गए।

पिता ने पुलिस को सौंपी शिकायत

अरुण से मामले की जानकारी मिलने के बाद पिता चांद कुमार ने पुलिस को शिकायत दी। शिकायत के आधार पर पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 323, 324, 341, 506 व 34 के तहत केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।