गृहमंत्री अनिल विज का सख्त अंदाज:विज ने लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों से कहा- मैं फिट हो गया, आप भी फिट हो जाओ

अम्बाला9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कैंट में अधिकारियों की बैठक काे संबोधित करते गृहमंत्री अनिल विज। - Dainik Bhaskar
कैंट में अधिकारियों की बैठक काे संबोधित करते गृहमंत्री अनिल विज।

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि छावनी निवासियों को पेयजल आपूर्ति के लिए ट्यूबवेलों पर निर्भर न रहना पड़े इसके लिए नहरी पानी परियोजना पर तेजी से काम किया जा रहा है। नहरी पानी हर घर तक पहुंचे, इसके लिए विभागीय अधिकारी ऐसी योजना तैयार करें।

विकास कार्यों में लापरवाही और देरी बरतने वाले अधिकारियों को उन्होंने सख्त अंदाज में कहा कि अब मैं बिल्कुल फिट हो गया हूं और आप भी फिट हो जाओ। वह मंगलवार को अपने आवास पर नहरी पानी परियोजना को लेकर नगर परिषद और पब्लिक हेल्थ अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे।

विज ने कहा कि नहरी पानी परियोजना से हर घर तक पानी पहुंचेगा, जिससे छावनी की निर्भरता ट्यूबवेलों पर कम रह जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए किए परियोजना को लेकर तेजी से काम पूरा किया जाए ताकि जल्द से जल्द जनता को इसका लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि कार्य गुणवत्तापूर्वक हो अधिकारी यह भी पूरी तरह से सुनिश्चित करें। हर घर में पानी और सीवरेज लाइन होनी चाहिए और अधिकारी ऐसी ही व्यवस्था को तैयार करें। बैठक में एडीसी व नगर परिषद के प्रशासक सचिन गुप्ता, नगर निगम के एसई महिपाल, नप एक्सईएन विकास धीमान, ईओ रविंद्र कुहार, पब्लिक हेल्थ के एसई मैकेनिकल नीशिपाल, एक्सईएन अनिल चौहान सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

एमई व जेई करेंगे सफाई को लेकर निरीक्षण: विज ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जहां-जहां पार पाइप लाइन अंडर ग्राउंड करने का काम पूरा हो चुका है उस क्षेत्र में साफ-सफाई कराई जाए। इसके लिए नगर परिषद के एमई और जेई के नेतृत्व में टीम इलाकों में चेकिंग करेंगी।

9 किलोमीटर तक पाइप लाइन डालने का काम पूरा

बैठक में नगर परिषद के एक्सईएन विकास धीमान ने बताया कि 9 किलोमीटर तक पाइप लाइन डालने का काम पूरा किया जा चुका है। अमरुत योजना के तहत कुल 98 करोड़ रुपए की लागत से अद्दो माजरा से छावनी तक 22 किलोमीटर लंबी नहरी पानी पाइप लाइन डाली जा रही है। पहले लाइन घसीटपुर में वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट से जुड़ेगी। इसके बाद आगे छावनी के अलग-अलग क्षेत्रों में नहरी पानी की सप्लाई होगी। विभाग के एक्सईएन अनिल चौहान ने बताया कि कुल 7 बूस्टर अलग-अलग क्षेत्रों में लगाए गए हैं। ताकि पानी प्रेशर से हर घर तक पहुंचे।

खबरें और भी हैं...